'बीबीसी हिंदी प्रसारण हमेशा जारी रहे'

इस ऑडियो/वीडियो के लिए आपको फ़्लैश प्लेयर के नए संस्करण की ज़रुरत है

किसी और ऑडियो/वीडियो प्लेयर में चलाएँ

ब्रितानी सांसदों ने बीबीसी प्रबंधन से अनुरोध किया है कि वे बीबीसी हिंदी सेवा के शॉर्ट वेव रेडियो प्रसारण को बंद करने के अपने फ़ैसले को स्थायी तौर पर बदल दें.

जनवरी में बीबीसी प्रबंधन ने हिंदी शॉर्ट वेव प्रसारण को बंद करने की घोषणा की थी लेकिन बाद में इस निर्णय में परिवर्तन किया गया, अब भारतीय समय के अनुसार शाम साढ़े सात बजे से साढ़े आठ बजे तक एक घंटे का प्रसारण एक वर्ष तक के लिए जारी रखने का फ़ैसला किया है.

बीबीसी को आर्थिक कठिनाइयों की वजह से शॉर्ट वेव प्रसारण को बंद करने का निर्णय करना पड़ा था क्योंकि बीबीसी वर्ल्ड सर्विस को अपने कुल बजट में 16 प्रतिशत की कटौती करनी पड़ रही है.

बीबीसी के सामने कई वैकल्पिक वित्तीय प्रस्ताव रखे गए थे जिसके बाद यह निर्णय लिया गया कि एक वर्ष तक इन विकल्पों पर ग़ौर किया जाएगा और अगर उपयुक्त व्यावसायिक फंडिंग का प्रबंध नहीं हो सका तो मार्च 2012 में बीबीसी हिंदी शॉर्ट वेव प्रसारणों को बंद कर दिया जाएगा.

बहस

ब्रितानी संसद के निचले सदन हाउस ऑफ़ कॉमन्स में हुई बहस में सत्ताधारी और विपक्षी पार्टियों के सांसदों ने बीबीसी हिंदी सेवा को बंद करने की आलोचना की जो एक करोड़ से अधिक भारतीय श्रोताओं तक पहुँचती है

बीबीसी हिंदी सेवा अपने शॉर्ट वेब ब्रॉडकास्ट बंद कर रही है जिस पर दस लाख पाउंड ख़र्च होते हैं और उसे एक करोड़ से अधिक लोग सुनते हैं, मेरी नज़र में यह अच्छी बचत नहीं है, मैं उम्मीद करता हूँ कि बीबीसी अपने निर्णय पर पुनर्विचार करेगी

एडवर्ड ली

पूर्व मंत्री और सांसद एडवर्ड ली ने कहा, "बीबीसी हिंदी सेवा अपने शॉर्ट वेव ब्रॉडकास्ट बंद कर रही है जिस पर दस लाख पाउंड ख़र्च होते हैं और उसे एक करोड़ से अधिक लोग सुनते हैं, मेरी नज़र में यह अच्छी बचत नहीं है, मैं उम्मीद करता हूँ कि बीबीसी अपने निर्णय पर पुनर्विचार करेगी."

एडवर्ड ली ने कहा, "बीबीसी का यह तर्क ग़लत है कि भारत में सूचना क्रांति हुई है और अधिक से अधिक लोग टीवी देख रहे हैं जबकि निर्धन राज्यों के ग़रीब लोग शॉर्ट वेव प्रसारण पर निर्भर करते हैं, यह अपेक्षाकृत बहुत सस्ती सेवा है जो जारी रहनी चाहिए."

उन्होंने कहा कि वर्ल्ड सर्विस दुनिया भर में ब्रितानी 'सौम्य शक्ति' का परिचायक है, "अन्य देशों की तुलना में ब्रिटेन के पास एक ऐसा माध्यम है जिसके ज़रिए वह बहुत बड़ी संख्या में भारतीय जनता से संवाद कर सकता है जिसमें सिर्फ़ अमीर शहरी ही नहीं बल्कि हर तरह के लोग हैं."

ब्रितानी विदेश मंत्रालय के मिनिस्टर डेविड लिडिंगटन ने कहा कि बीबीसी हिंदी सेवा कितनी लोकप्रिय है इसका अंदाज़ा लोगों के "भावुकता भरी अर्ज़ियों" को देखकर हो जाता है.

डेविड लिडिंगटन ने कहा, "मेरे लिए यह ख़ुशी की बात है कि बीबीसी वर्ल्ड सर्विस ने अतिरिक्त संसाधन जुटाए हैं ताकि हिंदी सेवा एक साल तक शॉर्ट वेब में प्रसारण कर सके और इस बीच व्यावसायिक फंडिंग की व्यवस्था बनाने की कोशिश कर सके."

उन्होंने कहा कि बीबीसी वर्ल्ड सर्विस भारत के साथ ब्रिटेन के रिश्तों में एक अहम भूमिका निभाता है. उन्होंने उम्मीद जताई कि बीबीसी हिंदी सेवा जिन समस्याओं से जूझ रही है उसका समाधान निकाला जा सकेगा.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.