यरुशलम धमाके पर कड़ी प्रतिक्रिया

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption योरुशलम के केंद्रीय भाग में धमाका हुआ

इसराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने यरुशलम में हुए बम धमाके पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि इसराइल इसका जवाब ‘आक्रामकता और पूरी ज़िम्मेदारी’ से देगा.

केंद्रीय यरूशलम में एक भीड़-भड़ाके वाले बस स्टॉप पर एक बम धमाका हुआ है जिसमें एक महिला की मौत हो गई है और कम से कम 30 लोग घायल हुए हैं.

नेतन्याहू ने कहा, ''वो लोग हमारे धैर्य की परीक्षा ले रहे हैं और समय के साथ वो ये जान जाएंगे कि इसराइल और उसकी सेना फौलादी इरादों से बनी है. इसराइल इन हमलों का जवाब आरक्रामकता, ज़िम्मेदारी और होशियारी से देगा ताकि शांति कायम रहे.''

पुलिस के अनुसार ये आत्मघाती हमला नहीं था.

इसराइली पुलिस के प्रवक्ता मिकी रोसेनफ़ेल्ड ने बीबीसी को बताया है कि वह एक संदिग्ध व्यक्ति की खोज में जुटी हुई है और एक वाहन की भी खोज की जा रही है जिसका इस्तेमाल किया गया था.

एक इसराइली अधिकारी का कहना था कि ये विस्फोटक एक बैग में छिपाकर या तो बस स्टैंड या फिर पास के एक फ़ोन बूथ में रखा गया था.

टीवी पर दिखाई जा रही तस्वीरों में घटनास्थल पर कई एंबुलेंस गाड़ियाँ दिखाई गई हैं और राहतकर्मियों को कम से कम बीस लोगों की मदद करते दिखाया जा रहा है.

पिछले दशक के शुरुआती भाग में फ़लस्तीनी चपमपंथियों ने बसों और रेस्तरां को निशाना बनाते हुए कई धमाके किए थे लेकिन हाल के वर्षों में ऐसी घटनाएँ कभी-कभी ही देखने के मिली हैं.

एएफ़पी के अनुसार एक संवाददाता ने ख़ून में लथपथ लोगों को देखा है और वहीं अनेक तबाह हुई कारों और बसों के शीशे भी देखे गए हैं.

अस्पताल के अधिकारियों ने इसराइल के चैनल 2 को बताया है कि घायल लोगों में से चार की हालत बहुत गंभीर है.

ग़ौरतलब है कि ये हमला तब हुआ है जब ग़ज़ा पट्टी में तनाव बढ़ा हुआ है और बुधवार को इसराइली लड़ाकू विमानों ने ग़ज़ा शहर के पूर्व में ताज़ा हमले किए हैं. इससे पहले फ़लस्तीनी चरमपंथियों ने दक्षिणी इसराइल पर दो रॉकेट दागे थे.

पिछले दशक के शुरुआती भाग में फ़लस्तीनी चपमपंथियों ने बसों और रेस्तरां को निशाना बनाते हुए कई धमाके किए थे लेकिन हाल के वर्षों में ऐसी घटनाएँ कभी-कभी ही देखने के मिली हैं.

संबंधित समाचार