सात यूरोपीय नागरिकों का पूर्वी लेबनान में अपहरण

Image caption बेका घाटी इस्लामी चरमपंथी गुट हिज़बुल्ला का गढ़ मानी जाती है.

एस्टोनिया के सात पर्यटकों को पूर्वी लेबनान की बेका घाटी में अग़वा कर लिया गया है.

यह पर्यटक साइकिलों पर इस इलाके में घूम रहे थे.

सेना अब इन पर्यटकों की खोज में जुट गई है जो बुधवार को सीरिया के रास्ते वैध रुप से लेबनान में दाखिल हुए थे.

ये पर्यटक ज़ाहले नामक एक कस्बे में थे जब कुछ अज्ञात सशस्त्र लोगों ने उन्हें एक कार और दो वैन का इस्तेमाल कर अग़वा कर लिया.

हिज़बुल्ला का गढ़

अभी इस बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है कि इस अपहरण के पीछे राजनीतिक कारण हैं या नहीं. बेका घाटी को इस्लामी चरमपंथी गुट हिज़बुल्ला का गढ़ माना जाता है.

1984 से 1990 के बीच लेबनान में हुए गृहयुद्ध के दौरान भी 88 पर्यटकों को गिरफ़्तार कर लिया गया था, जिनमें पत्रकार जॉन मैक्कार्थी और शांतिदूत टैरी वेट भी शामिल थे.

बेका घाटी को अराजकता, नशीली दवाओं की तस्करी और अलग-अलग ताकतवर गुटों के झगड़ों के लिए जाना जाता है. ये गुट इस इलाके में हशीश की खेती करते हैं.

इन पर्यटकों की साईकिलें ज़ाहले के नज़दीक एक औद्दोगिक इलाके से बरामद हुईं.

संबंधित समाचार