आरक्षण का सबक क्रिकेट के ज़रिए?

एल के आडवाणी

आडवाणी का कहना है कि भारतीय टीम में सभी मुसलमान ख़िलाड़ी गुजरात से हैं

भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने अपने ताज़ा ब्लॉग में आरक्षण पर सबक दिया है क्रिकेट के माध्यम से....

उन्होंने अपने ताज़ा ब्लॉग में पार्टी प्रवक्ता शाहनवाज़ हुसैन की तारीफों के पुल बांधे हैं.

दरअसल शाहनवाज़ हुसैन ने हाल ही में संसद में दिए एक बयान में मुसलमानों की स्थिति पर प्रकाश डालने के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का उदाहरण दिया था.

शाहनवाज़ हुसैन के हवाले से आडवाणी कहते हैं, "इन दिनों वर्ल्ड कप क्रिकेट टूर्नामेंट चल रहा है. भारतीय टीम में 11 में से तीन खिलाड़ी मुसलमान हैं - ज़हीर ख़ान, मुनाफ़ पटेल और यूसुफ़ पठान. ग्यारह में से तीन यानि 30.6 प्रतिशत. और ये ख़िलाड़ी हुनर के आधार पर टीम में है, न कि आरक्षण के आधार पर."

आडवाणी अपने ब्लॉग में लिखते हैं, "इत्तेफ़ाक़ से भारतीय टीम में तीनों मुसलमान ख़िलाड़ी गुजरात के हैं."

भारतीय टीम में 11 में से तीन खिलाड़ी मुसलमान हैं - ज़हीर ख़ान, मुनाफ़ पटेल और युसुफ़ पठान. ग्यारह में से तीन यानि 30.6 प्रतिशत मुसलमान. और ये ख़िलाड़ी हुनर के आधार पर टीम में है, न कि आरक्षण के आधार पर.

शाहनवाज़ हुसैन, भाजपा प्रवक्ता

शाहनवाज़ हुसैन के बयान को उत्कृष्ट बताते हुए लालकृष्ण आडवाणी कहते हैं कि उन्होंने आंकड़ों के आधार पर गुजरात में मुसलमानों की तरक्की की तुलना दूसरे राज्यों में मुसलमानों से की.

आडवाणी ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि संसद में जो लोग शाहनवाज़ के बयान में गुजरात के ज़िक्र पर आपत्ति जता रहे थे, उन्हें जवाब देते हुए हुसैन ने कहा, "अगर आपको मेरे गुजरात के ज़िक्र से कोई दिक्कत है, तो मैं एनडीए प्रशासित बिहार और मध्य प्रदेश ले जाकर आपको दिखा सकता हूं कि अल्पसंख्यकों का किस तरह से ध्यान रखा जाता है."

आडवाणी लिखते हैं, "जिन लोगों ने शाहनवाज़ हुसैन को टीवी पर सुना, उन्होंने उनकी बड़ी तारीफ़ की. मेरी जानकारी के अनुसार जब वे शुक्रवार की नमाज़ पढ़ने मस्जिद गए, तो वहां मौजूद इमाम ने भी उनके इस बयान के लिए उनकी पीठ थपथपाई."

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.