अमरीका: बजट पारित, संकट टला

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अमरीकी बजट संकट टला

अमरीका में सरकार के कामकाज के ठप्प पड़ने की नौबत को टाल दिया गया है. सरकार के खर्च पर सहमति बजट पारित कराने की समय सीमा से बस एक घंटे पहले हुई.

अगर ये बजट समय से पारित नहीं होता तो आठ लाख सरकारी कर्मचारियों को घर बैठना पड़ता और उनको तन्ख़्वाह भी नहीं मिलती.

वॉशिंगटन में चर्चा का बाज़ार गर्म था कि शायद सरकार का कामकाज ठप्प पड़ जाए पर इस पर नेताओं की बातचीत फिलहाल रंग लाई है. और उसने एक बड़े वित्तीय संकट को टाल दिया है.

इस पूरी बहस के मूल में जो बात थी वो थी खर्च में कटौती. रिपब्लिकन चाहते थे कि सरकार अपने खर्च में 60 अरब डॉलर की कटौती करे जबकि सत्ताधारी डेमोक्रेट इससे बहुत कम कटौती पर राज़ी हो रहे थे.

अब दोनो पक्षों के बीच लगभग 40 अरब डॉलर की खर्च में कटौती पर सहमति हुई है. इस समझौते से अब सरकार अगले बृहस्पतिवार तक अपना खर्च चला पाएगी. साथ ही ये भी तय हुआ है कि सितंबर तक सरकारी खर्च किस तरह किया जाएगा. इस समझौते को कॉग्रेस की हरी झंड़ी चाहिए.

राष्ट्रपति ओबामा का कहना था कि इस नये बजट को भविष्य में निवेश के रुप में देखना चाहिए. उनका कहना था कि ये मुश्किल फ़ैसलों की घड़ी है. कई बड़े ढांचागत निवेशों को कम करना पड़ेगा अगर भविष्य के लिए निवेश बचा के रखना है.

अगर ये समझौता नहीं होता तो सरकारी कर्मचारी और सेना के कर्मचारियों को अपना वेतन नहीं मिल पाता. साथ ही सरकार के जितने भी खर्च ग़ैर ज़रुरी माने जाते हैं उन्हें रोक दिया जाता. इनमें पासपोर्ट बनाना, वीज़ा देने की क्रिया, टैक्स रिटर्न भरने का काम और पर्यटक स्थल और म्यूज़ियम बंद करने की नौबत आ जाती.

संबंधित समाचार