गद्दाफ़ी को शांति प्रस्ताव मंज़ूर: जैकब ज़ूमा

इमेज कॉपीरइट Reuters

दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब ज़ूमा ने कहा है कि लीबियाई सरकार ने आठ हफ्तों से भी ज़्यादा समय से जारी हिंसा को खत्म करने के लिए अफ्रीकी संघ की ओर से दिए गए शांति प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है.

राष्ट्रपति जैकब ज़ूमा ने रविवार को अफ्रीकी संघ के तीन अन्य नेताओं के साथ मिलकर कर्नल गद्दाफ़ी से मुलाकात की.

मध्यस्थों का यह दल सोमवार को विद्रोहियों से मुलाकात करेगा.

लीबिया में कर्नल गद्दाफ़ी और विद्रोहियों के बीच युद्धविराम और देश में लोकतंत्र बहाल करने के लिए अफ्रीकी मध्यस्थों का दल लीबिया पहुंचा है.

इस बीच खबरों के मुताबिक लीबिया में गद्दाफ़ी का विरोध कर रहे विद्रोहियों के एक ब्रिटेन स्थित प्रतिनिधि गूमा अल गमाती का कहना है कि वो अफ्रीकी संघ के प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार करेंगे.

'यथा स्थिति नामंज़ूर'

हालांकि गद्दाफ़ी और उनके बेटों को लेकर यथा स्थिति बनाए रखने की किसी भी मांग को मंजूर नहीं किया जाएगा.

इस बीच अजदाबिया शहर में गद्दाफ़ी समर्थक सैनिकों ने विद्रोहियों के साथ भीषण संघर्ष के बाद उन्हें शहर से बाहर खदेड़ दिया है.

साथ ही नेटो का कहना है कि रविवार को उसके लड़ाकू विमानों ने लीबियाई सरकार के 25 टैंकों को नष्ट कर दिया.

अफ्रीकी संघ की ओर से पेश किए गए शांति प्रस्ताव में तुरंत प्रभाव से युद्ध विराम लागू करने, मानवीय मदद का रास्ता तैयार करने और संघर्षरत दोनों पक्षों के बीच बातचीत की बात कही गई है.

दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब ज़ूमा ने कहा, ''लीबियाई नेता कर्नल गद्दाफ़ी ने शांकि बहाल करने के लिए हमारी ओर से दिए गए मसौदे को स्वीकार कर लिया है. हमें युद्धविराम को एक मौका देना होगा.''

उन्होंने कहा इस प्रस्ताव के वारे में विस्तृत जानकारी एक वक्तव्य के तौर पर जारी की जाएगी.

संबंधित समाचार