तमिलनाडु में 75 प्रतिशत से अधिक मतदान

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में मतदाताओं की लम्बी कतारें

तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के लिए मतदान पूरा हो गया है. मतदान 75 प्रतिशत से भी अधिक रहा है.

तमिलनाडु में हो रहे विधानसभा चुनाव में मतदाताओं ने बड़े उत्साह के साथ और भारी संख्या में मतदान किया और दोपहर एक बजे तक पचास प्रतिशत से ज्यादा मतदान हो चुका था.

मतदान आमतौर पर शांतिपूर्ण रहा और कहीं से किसी हिंसा की ख़बर नहीं आई.

लेकिन मंगलवार की शाम विलुपुरम में डीएमके के एक नेता और पंचायत अध्यक्ष एस अर्जुनन की अज्ञात लोगों ने हत्या कर दी.

राजधानी चेन्नई के 16 विधान सभा क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह से ही लोग मतदान केंद्रों के बाहर लाइन लगा कर खड़े हो गए.

इस बार मतदाताओं का रुख़ सत्तारूढ़ पार्टी डीएमके के ख़िलाफ़ और अन्ना डीएमके के पक्ष में दिखाई दे रहा है.

हार्बर और ट्रिप्लिकेन क्षेत्रों में हर तरफ़ "परिवर्तन" की आवाज़ें गूंज रही थीं.

भ्रष्टाचार और महंगाई

सहोकार्पेट के इलाक़े में जहां अधिकतर हिंदी भाषी लोग रहते हैं, लोग भ्रष्टाचार और महंगाई जैसे मुद्दों को लेकर नाराज़ दिखाई दिए.

एक मतदाता इंदरचंद ने कहा, "भ्रष्टाचार बहुत बढ़ गया है और मैं इसी के विरुद्ध वोट डाल रहा हूं.

एक युवक परमानंद के अनुसार भ्रष्टाचार सबसे बड़ा मुद्दा है. उन्होने कहा, "इसी एक मुद्दे को लेकर सरकार बदल सकती है".

लेकिन बी पी गोस्वामी का मानना है कि चेन्नई शहर में भ्रष्टाचार एक बड़ा मुद्दा हो सकता है लेकिन ग्रामीण इलाकों में नहीं. उन्होने कहा, "गाँव के गरीबों को टू जी स्पेक्ट्रम घोटाले का क्या पता".

एक महिला राधिका ने कहा कि वो महंगाई से परेशान हैं और इसलिए सरकार के ख़िलाफ़ वोट देने आई हैं.

अन्ना हज़ारे ने दिल्ली में भ्रष्टाचार के विरुद्ध जो आमरण अनशन रखा था उसका चेन्नई के पढ़े लिखे लोगों पर काफ़ी असर पड़ता दिखाई दिया.

एक मतदाता नीता पाण्डेय ने कहा कि वो हज़ारे की समर्थक हैं. उन्होने कहा, "महंगाई और भ्रष्टाचार में सम्बन्ध है. भ्रष्ट राजनेताओं के कारण ही यह स्थिति हो रही है".

मुसलिम बहुल इलाक़े ईसहौस में डीएमके के समर्थन में भी कुछ आवाजें सुनाई दीं.

एक वकील एस के नवाज़ का कहना था कि सरकार ने गरीबों की सेहत के लिए जो कुछ काम किया है उसे अनदेखा नहीं किया जा सकता.

सत्यमूर्ति का कहना था कि वो करुणानिधि सरकार के काम से ख़ुश हैं और उसी को समर्थन देंगे.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम करुणानिधि मतदान करते हुए

डीएमके और अन्ना डीएमके में सीधी भिड़ंत

जहाँ तक ग्रामीण क्षेत्रों और ज़िलों का सवाल है वहां डीएमके और अन्ना डीएमके के गठबन्धनों के बीच ज़बरदस्त टकराव हो रहा है.

चेन्नई में जिन प्रमुख हस्तियों ने वोट डाले उनमें मुख्यमंत्री करूणानिधि, विपक्ष की नेता जयललिता, फ़िल्म अभिनेता रजनीकांत और कमल हासन शामिल थे.

गोपालपुरम में अपना वोट डालने के बाद करूणानिधि ने विश्वास व्यक्त किया कि उनके गठबंधन को बहुमत मिल जायेगा.

उनके पुत्र और उप मुख्यमंत्री स्टेलिन ने कहा कि उनके गठबंधन को 220 सीटें मिल जाएंगी.

दूसरी ओर जयललिता ने स्टेला मॉरिस कॉलेज में वोट डालने के बाद कहा, "मुझे पूरा विश्वास है कि जनता हमें स्पष्ट बहुमत के साथ सत्ता सौंपेगी और हमारा गठबंधन सफल रहेगा".

उन्होने ये भी कहा कि सत्तारूढ़ डीएमके धांधलियां कर सकती है और बोगस वोटिंग करवा सकती है.

संबंधित समाचार