पादरी धर्मनिरपेक्षता के विरोध में

कार्डिनल ब्राईन इमेज कॉपीरइट ap
Image caption कार्डिनल ब्राईन का मानना है कि ब्रिटेन में ईसाई विरोधी सोच रखनेवालों की ताक़त बढ़ती जा रही है.

स्कॉटलैंड में रोमन कैथोलिक चर्च के प्रमुख कार्डिनल कीथ ओ ब्राईन ईस्टर के अवसर पर दिए जानेवाले भाषण में "आक्रामक धर्मनिरपेक्षता" के ख़िलाफ़ कड़े शब्दों का इस्तेमाल करनेवाले हैं.

उनका कहना है कि वो समुदाय को ईसाईयत के दुश्मनों के प्रति सचेत करवाना चाहते हैं.

उनके अनुसार ये दुश्मन ख़ुदा को सार्वजनिक जगहों से पूरी तरह हटाने की कोशिश कर रहे हैं.

ईसाई समुदाय के अहम पर्व पर कार्डिनल ब्राईन सभी चर्चों को साथ आने की सलाह देंगे ताकि ईसाईयत को अलग-थलग करने की कोशिशों पर रोक लगाई जा सके.

भाषण मे कहा जाएगा कि दूसरे समुदायों और समलैंगिकों गुटों को बराबरी का अधिकार दिलाने की कोशिश की वजह से उन लोगों के लिए दिक्क़ते पैदा हो रही है जो अपनी धार्मिक भावनाओं के अनुरूप जीवन गुज़ारना चाहते हैं.

ईसाई धर्मगुरू आमतौर पर समलैंगिकों को अधिकार दिए जाने का विरोध करता रहे हैं.

कैथोलिक समुदाय के भीतर कंडोम के इस्तेमाल और गर्भपात को लेकर भी ज़बरदस्त बहस जारी है.

कार्डिनल ब्राईन को ईसाई धर्म की परंपरागत सोच का प्रबल समर्थक माना जाता है.

संबंधित समाचार