इतिहास के पन्नों से

भारत ने किया परमाणु परीक्षण

Image caption भारत ने किया परमाणु परीक्षण

11 मई 1998 के दिन भारत की सरकार ने कई भूमिगत परमाणु परीक्षणों को सफलतापूर्वक पूरा करने का ऐलान किया था.

तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने जल्दबाज़ी में बुलाई एक प्रेस वार्ता में पत्रकारों को ये ख़बर दी थी और इन सफल परीक्षणों के लिए भारत के वैज्ञानिकों और इंजीनियरों को बधाई भी दी थी.

1974 के बाद ये पहला मौक़ा था जब भारत ने परमाणु परीक्षण किया था. ये परीक्षण राजस्थान के पोखरण में किए गए थे जो कि पाकिस्तान की सीमा से महज़ 150 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.

इन परमाणु परीक्षणों के बारे में अंतरराष्ट्रीय समुदाय को कोई चेतावनी नहीं दी गई थी जिसके लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई देशों ने भारत की निंदा की थी. ख़ासतौर से पाकिस्तान ने इस पर गहरी नाराज़गी व्यक्त की थी.

स्टेडियम में लगी आग में 52 की मौत

इसी दिन 1985 में ब्रिटेन के ब्रैडफ़र्ड सिटी फ़ुटबॉल स्टेडियम में एक मैच के दौरान लगी आग में कम से कम 52 लोग मारे गए थे और कई लोग जख़्मी हो गए थे.

मारे गए लोगों में ज़्यादातर बच्चे और बुज़ुर्ग थे जो आग से बचने की कोशिश में भगदड़ में दबकर मारे गए थे. ये मैच ब्रैडफ़र्ड सिटी और लिंकन सिटी के बीच खेला जा रहा था.

घाना को मिली आज़ादी

Image caption घाना के पहले प्रधानमंत्री

थोड़ा और पीछे जाएं तो इसी दिन 1956 में गोल्ड कोस्ट को ब्रिटेन के शासन से मुक्त करने की घोषणा की गई थी.

गोल्ड कोस्ट जिसे आज हम घाना के नाम से जानते हैं ब्रिटेन की सरकार ने उसकी आज़ादी के लिए छह मार्च 1957 की तारीख़ मुक़र्रर की थी.

इसके बाद गोल्ड कोस्ट अफ्रीका का पहला ऐसा अश्वेत देश बन गया था जिसे ब्रितानी शासन से आज़ादी हासिल हुई थी. गोल्ड कोस्ट 1901 से ब्रिटेन का उपनिवेश था.

संबंधित समाचार