ओसामा की डायरी

ओसामा इमेज कॉपीरइट Pentagon

अमरीकी अधिकारियों का कहना है कि ओसामा बिन लादेन ने इस बात का हिसाब लगा रखा था कि मध्य पूर्व में तैनात अमरीकी सेना को वहां से हटने पर मजबूर करने के लिए कितने अमरीकियों को मारना ज़रूरी है.

अमरीकी अधिकारियों ने एपी समाचार एजेंसी को बताया कि ओसामा बिन लादेन एक डायरी लिखा करते थे.

ऐबटाबाद में कमांडों ऑपरेशन के दौरान अनके घर से ज़ब्त की गई डायरी के मुताबिक ओसामा जानते थे कि अगर अमरीका की मध्य पूर्व नीति बदलवानी है तो उसके लिए कितने अमरीकियों को मारना पर्याप्त होगा.

ओसामा का मानना था कि इसके लिए जैसे 11 सितम्बर 2001 के हमले में हज़ारों लोगों की जानें गई थीं उसी तरह की कोई कार्रवाई की ज़रूरत थी.

ट्रेनों पर हमले की योजना

अमरीकी अधिकारियों ने कहा है कि ओसामा बिन लादेन की अगली नई योजना अमरीका में ट्रेनों पर हमले करने की थी.

इसके लिए कुछ महत्वपूर्ण दिनों को भी चुना गया था जैसे अमरीका का स्वाधीनता दिवस यानि चार जुलाई और 11 सितम्बर 2001 हमलों के दस साल पूरा होने की तारीख़.

ओसामा ने डायरी में लिखा कि हमलों के लिए सिर्फ़ न्यूयार्क ही नही बल्कि लॉस एंजेलेस जैसे शहरों को भी निशाना बनाया जाना चाहिए.

जांचकर्ता ओसामा बिन लादेन के परिसर से मिले कंप्यूटर और हार्ड डिस्कों की जांच में लगे हैं और इनसे अल-क़ायदा के बारे में कई नई जानकारियां मिल रही हैं.

ओसामा के परिसर से पांच कंप्यूटर, एक मोबाइल फ़ोन और सौ के क़रीब फ्लैश ड्राइव मिले हैं.

संबंधित समाचार