फ़िलिप रौथ को 'मैन बुकर' पुरस्कार

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption फ़िलिप रौथ दुनिया के सबसे लोकप्रिय और विवादास्पद लेखकों में से एक

अमरीका के जाने-माने उपन्यासकारों में से एक फ़िलिप रौथ को चौथे 'मैन बुकर' अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार का विजेता घोषित किया गया है.

छह लाख पाउंड की ईनामी रकम वाला ये पुरस्कार ऐसे व्यक्ति को दिया जाता है जिसने विश्व स्तर पर उपन्यास के क्षेत्र में उपलब्धियाँ हासिल की हों.

रौथ ने जो कि 78 वर्ष के हो चुके हैं, इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, “यह एक बड़ा सम्मान है और इसे पाकर मुझे बहुत ख़ुशी हुई है.”

इस पुरस्कार के दावेदारों में रोहिन्टन मिस्त्री और फ़िलिप पुलमैन समेत 12 लेखक थे.

प्रतिष्ठित पुरस्कार

इसकी घोषणा सिडनी लेखक समारोह के दौरान ऑस्ट्रेलिया में एक संवाददाता सम्मेलन में की गई. इस पुरस्कार को लंदन में एक औपचारिक भोज के दौरान 28 जून को दिया जाएगा लेकिन रौथ इसमें भाग नहीं ले पाएंगे.

नेवार्क, न्यूजर्सी में 1933 में जन्मे रौथ को उनके वर्ष 1969 मे प्रकाशित विवादास्पद उपन्यास 'पोर्टनॉएस कंपलेंट' की वजह से काफ़ी ख्याति मिली. इस किताब में यौन व्यवहारों का सजीव चित्रण किया गया है.

टाइम पत्रिका ने इस पुस्तक को बीसवीं सदी की सर्वश्रेष्ठ पुस्तकों की सूची में शामिल किया है. उनकी सन 2000 में प्रकाशित पुस्तक 'द ह्यूमन स्टेन' पर एक फ़िल्म बनाई गई थी जिसमें सर एंथनी हॉपकिंस और ऑस्कर विजेता अभिनेत्री निकोल किडमेन ने काम किया था.

इस पुरस्कार को हर दूसरे वर्ष दिया जाता है. इससे पहले 2005 मे इस्माइल कादरी, 2007 में चिनुआ अचेबे और 2009 में एलिस मनरो इस पुरस्कार को जीत चुके हैं.

संबंधित समाचार