अरब जगत में लोकतांत्रिक बदलावों को समर्थन

ओबामा-कैमरन
Image caption ओबामा राष्ट्रपति बनने के बाद ब्रिटेन के पहली यात्रा पर हैं

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और ब्रितानी प्रधानमत्री डेविड कैमरन ने ज़ोर देकर कहा है कि वे अरब जगत में लोकतांत्रिक बदलावों का समर्थन करने के बारे में दृढ़ संकल्प हैं.

लंदन के 'द टाइम्स' अख़बार में प्रकाशित एक संयुक्त लेख में दोनों नेताओं ने ये विचार व्यक्त किए हैं.

ग़ौरतलब है कि ये लेख तब छपा है जब अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा तीन दिन की यात्रा पर ब्रिटेन पहुँचे हैं. राष्ट्रपति बनने के बाद ये उनकी ब्रिटेन की पहल यात्रा है.

दोनों नेताओं ने कहा है कि जब मध्य पूर्व में लोगों की आकांक्षाओं को बम, गोलियों और तोपों के गोलों का निशाना बनाया जा रहा हो तो वे मूकदर्शक नहीं बने रह सकते.

'कार्रवाई करना ज़िम्मेदारी है'

उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि वे लोकतंत्र के लिए लड़ रहे प्रदर्शनाकरियों को बीच राह में नहीं छोड़ेंगे.

ओबामा और कैमरन ने लिखा - "हम उन लोगों के साथ खड़े हैं जो अंधकार में रोशनी की किरण लाना चाहते हैं, उनका समर्थन करते हैं जो दमनचक्र की जगह आज़ादी चाहते हैं, उनकी मदद करेंगे जो लोकतंत्र का आधार रखना की कोशिश कर रहे हैं...हम बल प्रयोग करने में हिचकिचाते हैं लेकिन जब हमारे हित और हमारे मूल्य एक हो, तो हमें पता है कि कार्रवाई करना हमारी ज़िम्मेदारी है."

दोनों नेताओं ने अमरीका और ब्रिटेन के विशेष रिश्ते के बारे में भी प्रतिबद्धता जताई है और इसे विश्व के लिए ज़रूरी बताया है.

ओबामा और कैमरन का कहना है कि जब अमरीका और ब्रिटेन साथ-साथ खड़े होते हैं तो उनके देशों के नागरिक और दुनिया के लोग और सुरक्षित और संपन्न होते हैं.

संबंधित समाचार