मुंबई मामलों से जुड़ा महत्वपूर्ण मुक़दमा

तहव्वुर राणा
Image caption मुंबई हमलों से आईएसआई के तार जुड़े होने के बारे में जानकारियाँ सामने आने की संभावना

अमरीका में शिकागो के व्यवसायी तहव्वुर राणा के ख़िलाफ़ मुक़दमा शुरू हो गया है. उन पर 2008 के मुंबई हमले की साज़िश में भागीदार होने का आरोप है. इस मुक़दमे पर पूरी दुनिया की नज़र है क्योंकि इससे आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में पाकिस्तान की भूमिका पर नई रोशनी पड़ने की संभावना है.

मुंबई हमलों में मारे गए 160 से ज़्यादा लोगों में छह अमरीकी शामिल थे. बीबीसी संवाददाता ज़ुबैर अमहद हमलों के दौरान मुंबई में थे. उन्होंने अमरीका में शुरू हुए मुक़दमे के मुख्य पहलुओं से जुड़ी जानकारियाँ जुटाई हैं.

तहव्वुर राणा कौन हैं और उन पर क्या आरोप हैं?

तहव्वुर हुसैन राणा पाकिस्तान में पले-बढ़े हैं. चिकित्सा की डिग्री लेने के बाद वे पाकिस्तान सेना के मेडिकल कोर से जुड़ गए.

पचास वर्षीय राणा और उनकी पत्नी दोनों ने 2001 में कनाडा की नागरिकता ले ली. उनकी पत्नी भी चिकित्सक हैं. वर्ष 2009 में गिरफ़्तारी से पहले राणा अमरीका के शिकागो में रह रहे थे. वह ट्रैवल एजेंसी समेत कई व्यवसायों से जुड़े हुए थे.

आईएसआई-लश्कर की मिलीभगत

तीन साल पहले राणा ने बचपन के अपने दोस्त डेविड हेडली को मुंबई में अपनी ट्रैवल एजेंसी की शाखा खोलने में मदद की. आरोप है कि इस व्यवसाय का मुख्य उद्देश्य था मुंबई हमलों के लिए लक्ष्यों की टोह लेना.

हेडली पहले ही मुंबई हमलों की साज़िश में शामिल होने की बात स्वीकार कर चुके हैं. उम्मीद है कि अब वे राणा के ख़िलाफ़ अभियोजन पक्ष का मुख्य गवाह होंगे. हेडली ने चरमपंथी संगठन लश्करे तैबा और पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई से संबंध होने की भी बात स्वीकार की है.

राणा पर कुल मिला कर 12 आरोप लगाए गए हैं, जिनमें अमरीकी नागरिकों की हत्या में सहायक होने का आरोप शामिल है.

राणा की गिरफ़्तारी कब और कैसे हुई?

राणा और हेडली को अक्तूबर 2009 में डेनमार्क के अख़बार यलैंड्स पोस्तेन के कार्यालयों पर हमले की योजना बनाने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था. इसी अख़बार ने पहली बार पैगंबर मुहम्मद पर विवादास्पद कार्टून छापे थे. गिरफ़्तारी के बाद हुई पूछताछ के दौरान पता चला कि दोनों मुंबई हमलों की साज़िश में भी शामिल थे.

शिकागो की संघीय अदालत में दायर चार्जशीट में चार और लोगों के नाम हैं- कैप्टन इक़बाल, साजिदी मीर, अबू क़हाफ़ा और मज़हर इक़बाल. चारों पाकिस्तानी नागरिक हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ़ मज़हर इक़बाल की ही पाकिस्तान में गिरफ़्तारी हो पाई है.

डेविड हेडली की क्या भूमिका है और कैसे उसकी गवाही महत्वपूर्ण है?

हेडली की गवाही से राणा और आईएसआई के संबंध साबित हो सकते हैं. यदि ऐसा हुआ तो आईएसआई के चरमपंथियों से संबंधों को लेकर अमरीका का संदेह बढ़ जाएगा. हालाँकि पाकिस्तान ऐसी किसी बात का ज़ाहिर है खंडन करेगा.

हेडली पहले ही पाकिस्तान में अपने कुछ सहयोगियों के कहने पर मुंबई हमले से जुड़ने की बात मान चुके हैं. वे राणा के अलावा उन चार लोगों से मिलने की बात भी स्वीकार कर चुके हैं जिनके नाम चार्जशीट में हैं.

आरोप पत्र के अनुसार मुंबई हमले में हेडली की प्रधान भूमिका रही है. उन्होंने मुंबई का कई बार दौरा कर लक्ष्यों की टोह ली. हर मुंबई यात्रा के बाद वे पाकिस्तान गए और अपने कथित हैंडलरों से मिले. आरोप है कि पाकिस्तान के अपने सहयोगियों के कहने पर ही उन्होंने मुंबई में एक ट्रैवल एजेंसी खोली. राणा के स्वामित्व वाली इस ट्रैवल एजेंसी का नाम फ़र्स्ट वर्ल्ड था.

डेविड हेडली कितना भरोसेमंद गवाह है?

पाकिस्तान उन पर झूठ बोलने का आरोप लगाता है. यदि हेडली ने मुंबई हमलों से आईएसआई को किसी तरह जोड़ते हैं तो उम्मीद यही है कि पाकिस्तान आरोप का दो टूक खंडन करेगा. वैसे माना यही जाता है कि हेडली आईएसआई के कुछ लोगों का नाम लेंगे. उनके आरोपों के समर्थन में फ़ोनकॉल्स और अन्य दस्तावेज़ों का इस्तेमाल किया जाएगा.

याद रहे कि हेडली ने माफ़ी की शर्त पर सरकारी गवाह बनना स्वीकार किया है.

इसका अमरीका-पाकिस्तान संबंधों पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

मुक़दमा ऐसे समय शुरू हुआ है जब पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी पर अल-क़ायदा नेता ओसामा बिन लादेन की पाकिस्तान में उपस्थिति से बेख़बर रहने का आरोप लग रहा है.

हालाँकि मौजूदा मुक़दमे में अमरीका सरकार ने शायद जानबूझ कर आईएसआई का नाम नहीं दिया है ताकि पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी पर दबाव भी बनाए रखा जाए और उसे खुलेआम शर्मिंदा भी नहीं किया जा सके.

जॉर्जटाउन विश्वविद्यालय की आतंकवाद विशेषज्ञ प्रोफ़ेसर क्रिस्टीन फ़ेयर का मानना है कि राणा पर चलने वाला मुक़दमा वैसे ही बहुत महत्वपूर्ण था, अब लादेन के मारे जाने के बाद इसका महत्व और बढ़ गया है क्योंकि पाकिस्तान को लेकर अमरीकी प्रशासन में इन दिनों निराशा काफ़ी बढ़ गई है.

संबंधित समाचार