तूफ़ान का सामना करने के लिए तैयार नहीं फ़ुकुशिमा

इमेज कॉपीरइट AP

जापान की ओर बढ़ रहे तूफ़ान को देखते हुए फ़ुकुशिमा परमाणु संयंत्र के अधिकारियों ने चिंता जताई है.

उनका कहना है कि क्षतिग्रस्त संयंत्र भारी बारिश और तूफ़ान का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार नहीं है.

माना जा रहा है कि सोमवार को तूफ़ान सोंगडा जापान पहुँच जाएगा.

संयंत्र को चलाने वाले टोक्यो इलेक्ट्रिक पावर (टेप्को) ने कहा है कि कई इमारतें जिनमें रिएक्टर हैं, वो ढकी नहीं हैं. इस कारण आशंका जताई जा रही है कि तूफ़ान अपने साथ रेडियोधर्मी पदार्थ हवा और समुद्र तक ले जाएगा.

11 मार्च को आई सुनामी और भूकंप के बाद फ़ुकुशिमा परमाणु संयंत्र को भारी नुकसान पहुँचा था.

आलोचना

टेप्को के एक अधिकारी ने कहा है, “हमने काफ़ी कोशिश की लेकिन अभी तक इन इमारतों को ढकने का काम पूरा नहीं हो सका है जिन्हें नुकसान पहुँचा था. हवा और बारिश से बचाने के पर्याप्त इंतज़ाम न होने पर हम क्षमा माँगते हैं.”

जापान के प्रधानमंत्री कान के सलाहकार गोशी होसोनो ने टेप्को की आलोचना करते हुए कहा है कि वर्तमान सुरक्षा इंतज़ाम पर्याप्त नहीं हैं.

उन्होंने कहा कि रेडियोधर्मी पदार्थों को और फैलने से रोकने के लिए कोशिश जारी है.

जापान में मौसम विभाग की एजेंसी के मुताबिक सोंगडा तूफ़ान 216 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से बढ़ रहा है और सोमवार तक जापान पहुँच सकता है.

अभी ये स्पष्ट नहीं है कि क्या फ़ुकुशिमा सीधे-सीधे तूफ़ान के रास्ते में पड़ेगा या नहीं. फ़ुकुशिमा मामले को लेकर जापान सरकार और टेप्को दोनों की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफ़ी आलोचना हुई है.

संबंधित समाचार