टाइटैनिक जहाज़ के सौ साल पर समारोह

टाइटैनिक जहाज(फ़ाईल फ़ोटो) इमेज कॉपीरइट AP
Image caption साउथैप्टन से न्यूयॉर्क जाते हुए टाइटैनिक

टाइटैनिक जहाज़ बनने के सौ साल पूरे होने की ख़ुशी में उत्तरी आयरलैंड के शहर बेलफ़ास्ट मे समारोह की तैयारी हो रही है.

आज से सौ साल पहले आज ही के दिन यानि 31 मई, 1911 को बेलफ़ास्ट में टाइटैनिक जहाज़ को पहली बार पानी में उतारा गया था.

उस वक़्त ये जहाज़ दुनिया की सबसे बड़ा जहाज़ था.

जहाज़ के सौ साल पूरे होने पर मंगलवार को बंदरगाह के गोदाम में एक धार्मिक कार्यक्रम होगा फिर उसके बाद ब्रिटेन के समयानुसार ठीक 12 बजकर 13 मिनट पर

रोशनी की जाएगी. सौ साल पहले ठीक इसी वक़्त टाइटैनिक जहाज़ को पानी में उतारा गया था.

लेकिन साउथैप्टन से न्यूयॉर्क की अपनी पहली ही यात्रा के दौरान अटलांटिक महासागर में बर्फ़ की एक चट्टान से टकरा कर जहाज़ डूब गया.

इस भयानक दुर्घटना में लगभग 1500 यात्री और चालक दल के सदस्य मारे गए थे.

मारे गए लोगों में से एक थॉमस मिलर की पड़पोती सुज़न कहती हैं कि जहाज़ की शताब्दी वर्षगांठ का जश्न मनाया जाना चाहिए.

'असाधारण कहानी'

टाइटैनिक को बनाने में तीन साल लगे थे. हाल ही में सात अरब अमरीकी डॉलर के निवेश से बेलफ़ास्ट मे 'टाइटैनिक क्वार्टर' की बुनियाद रखी गई है, इसके अलावा वर्ष 2012 तक दर्शक केंद्र खोला जाएगा.

अलस्टर फ़ॉक एंड ट्रांसपोर्ट म्यूज़ियम में टाइटैनिक के बारे में एक प्रदर्शनी लगी है जो इस वर्ष 31 अगस्त तक चलेगी.

आयरलैंड में पर्यटन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियाल गिबंस का कहना है कि किसी भी जहाज़ ने दुनिया को अपनी तरफ़ उतना आकर्षित नहीं किया जितना कि टाइटैनिक ने किया है.

उन्होंने कहा, ''टाइटैनिक की असाधारण कहनी की शुरूआत बेलफ़ास्ट में इसकी पैदाईश से शुरू होती है. मैं बेलफ़ास्ट जाने वाले लोगों से ख़ास तौर पर कहना चाहूंगा कि वे इस प्रदर्शनी के ज़रिए टाइटैनिक बनने की कहानी को जानें.''

संबंधित समाचार