ताउम्र ख़ुशी के फेरे में ज़िंदगी गई

Image caption तेरह के आंकड़े के साथ भी जुड़ा है अंधविश्वास

रूस के पूर्वोत्तर में एक व्यक्ति ने अपने दोस्त को उसे ज़िंदा ज़मीन में दफ़ना देने की ज़िद की और उसके बाद उसकी मौत हो गई.

उस व्यक्ति का मानना था कि अगर वो एक रात ज़िदा ख़ुद को दफ़न कर रखे तो उसकी किस्मत चमक जाएगी.

मास्को से बीबीसी संवाददाता स्टीव रोज़नबर्ग का कहना है कि रूस में कई तरह के अंधविश्वास प्रचलित हैं. मसलन आप अगर टेबल के कोने पर बैठेंगे तो आपको दुल्हन कभी नहीं मिलेगी.

और अगर घर पर आपने सीटी बजाई तो सारा पैसा खो जाएगा. लेकिन सबसे अजीबोग़रीब अंधविश्वास ब्लैगोवेशेन्सक शहर के एक व्यक्ति ने इंटरनेट पर ढूंढ निकाला.

एक रात दफ़न और फिर ऐश

एक रूसी वेबसाइट के अनुसार आप ज़मीन में अपने आपको एक रात के लिए दफ़ना दें तो उम्र भर ख़ुश रहेंगे.

ज़िंदगी भर की ख़ुशी के लिए कुछ घंटे ज़मीन के अंदर बैठना इस व्यक्ति को एक छोटी सी बात लगी सो इसने अपनी कब्र खोदी और उसके भीतर ताबूत की तरह लकड़ी की पट्टियां लगा दीं और उसके अंदर बैठ गया.

फिर अपने एक दोस्त को ज़िद की कि वो उसे मिट्टी से भर दे.

उसने सावधानी बरती थी और अपने साथ मोबाईल फ़ोन ले गया था. इरादा ये था कि किसी तरह की मुश्किल होगी तो वो अपने दोस्त को फ़ोन कर लेगा.

पर मुश्किल ये हुई कि ताबूत में अंदर जाने के बाद उसका फ़ोन स्वीच औफ़ हो गया और जिस पाईप से हवा आने का रास्ता था वो बंद हो गई.

रात भर बारिश ने मुश्किलें और खड़ी कर दीं. जब दोस्त अगले दिन सुबह उसे कब्र से बाहर निकालने के लिए पहुंचा तो उसे केवल लाश मिली.

पुलिस ने तहक़ीकात शुरू कर दी है. रूस में अंधविश्वास के कारण हुई मौत कोई पहली बार नहीं हुई है. पिछली गर्मियों में भी एक ऐसा वाक़या हुआ था.

संबंधित समाचार