'क्या हथकड़ी लगाना ज़रूरी है?'

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption न्यूयॉर्क पुलिस विभाग के दस्तावेज़ों से ली गई तस्वीर

सरकारी दस्तावेज़ों के अनुसार बलात्कार और यौन हमले के आरोपों का सामना कर रहे अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के पूर्व प्रमुख डॉमिनिक स्ट्रॉस-कान ने गिरफ़्तारी के फ़ौरन बाद राजनयिकों को मिले विशेषाधिकार का इस्तेमाल करने की कोशिश की थी और हथकड़ियां लगाए जाने पर भी शिकायत की थी.

न्यूयॉर्क में सरकारी वकीलों की ओर से जारी दस्तावेज़ से स्ट्रॉस-कान की गिरफ़्तारी के बारे में विस्तार से पता चला है.

स्ट्रॉस-कान आईएमएफ़ के प्रमुख के पद से इस्तीफ़ा दे चुके हैं और ज़मानत पर न्यूयॉर्क के ही एक फ़्लैट में रह रहे हैं.

उन्होंने एक होटल की महिला कर्मचारी पर बलात्कार और यौन हमले की कोशिशों के आरोप से इंकार किया है और अदालत में अपने निर्दोष होने की दलील पेश की है.

दस्तावेज़ों से पता चलता है किस तरह होटल के कर्मचारियों और पुलिस ने घटना के फ़ौरन बाद एयर फ्रांस के जेट पर सवार हो चुके स्ट्रॉस-कान को देश छोड़ने से पहले हिरासत में लिया.

स्ट्रॉस-कान ने न्यूयॉर्क के समय से लगभग साढ़े तीन बजे दोपहर सोफ़िटेल होटल में फ़ोन किया कि वो अपना मोबाइल फ़ोन भूल आए हैं.

इस बातचीत को पुलिस भी सुन रही थी और होटल कर्मचारियों ने उनसे कहा कि उनका फ़ोन जेएफ़के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के एयर फ़्रांस टर्मिनल पर उन्हें पहुंचा दिया जाएगा.

हथकड़ी

वहां फ़ोन नहीं बल्कि उन्हें गिरफ़्तार करने पुलिस पहुंची.

एयरपोर्ट के पुलिस अड्डे पर जब उन्हें हथकड़ियां लगाई गईं तो उन्होंने कहा, "क्या ये ज़रूरी है"?

न्यूयॉर्क पोर्ट अथॉरिटी पुलिस के अधिकारी दीवान महाराज ने उनसे कहा, "जी हां ये ज़रूरी है".

उसके बाद स्ट्रॉस-कान ने अपने राजनयिक अधिकारों का हवाला दिया और फ्रांसीसी वाणिज्य दूतावास से बात करने की इच्छा ज़ाहिर की.

दस मिनट बात उन्होंने हथकड़ियों को सामने की ओर लगाए जाने का अनुरोध किया और कहा, “मुझे एक फ़ोन करना है और उन्हें बताना है कि मैं कल की मीटिंग में भाग नहीं ले सकूंगा. ये हथकड़ियां बेहद कसी हुई हैं.”

शाम को लगभग पौने नौ बजे उन्होंने पूछा कि क्या उन्हें एक वकील की ज़रूरत है.

उन्हें जवाब मिला, “ये आपके उपर निर्भर करता है.”

बातचीत के दौरान ये भी लगता है जैसे स्ट्रॉस-कान ने अपने राजनयिक अधिकारों के इस्तेमाल का इरादा बदल लिया था.

उनकी गिरफ़्तारी के कई दिनों बाद आईएमएफ़ ने ये भी स्पष्ट किया कि उन्हें बेहद सीमित राजनयिक विशेषाधिकार मिले हुए हैं और वो न्यूयॉर्क के इस केस पर नहीं लागू होते.

इस बीच सरकारी वकीलों ने ये भी कहा है कि वो डीएनए से जुड़े प्रमाण पेश कर सकते हैं जिससे ये साबित होगा कि स्ट्रॉस-कान ने होटल की महिला कर्मचारी के साथ बलात्कार की कोशिश की.

संबंधित समाचार