'नेटो के अप्रसांगिक होने का खतरा'

राबर्ट गेट्स इमेज कॉपीरइट AP
Image caption राबर्ट गेट्स ने कहा है कि लीबिया में नेटो सेना को युद्ध सामग्री की कमी का सामना करना पड़ रहा है.

अमरीकी रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स ने कहा है कि यूरोपीय सदस्य देश अगर अपने सैन्य खर्च में बढ़ोत्तरी नहीं करते हैं तो इस बात का ख़तरा है कि नेटो की सैन्य शक्ति अप्रसांगिक हो जाएगी.

अपने एक भाषण में अमरीकी रक्षा मंत्री ने कहा कि अफ़गानिस्तान और लीबिया में जारी नेटो की कार्रवाई के दौरान कुछ सदस्य देशों की सैन्य क्षमता और राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी साफ़ तौर पर सामने आ गई है.

रॉबर्ट गेट्स ने कहा कि यूरोपीय देशों में हो की जा रही कटौतियों की पूर्ति अमरीकी करदाता हमेशा नहीं सहन कर पाएंगे.

ब्रसेल्स में दिए गए अमरीकी रक्षा मंत्री के भाषण को यूरोपीय देशों के लिए चेतावनी के तौर पर देखा जा रहा है. भाषण में कहा गया है कि वो रक्षा के क्षेत्र में किए जानेवाले अपने ख़र्चे को बढ़ाए.

उन्होंने कहा कि लीबिया में ऑपरेशन शुरु हुए अभी ग्यारह हफ़्ते ही हुए हैं और समूह को युद्ध सामग्री में कमी का सामना करना पड़ रहा है.

पचहत्तर गुना बढ़ोत्तरी

रॉबर्ट गेट्स ने कहा कि बर्लिन की दीवार के गिरने के दो दशक के बाद नेटो समूह में अमरीकी ख़र्च पचहत्तर गुना बढ़ गया है.

उन्होंने कहा कि कुछ नए हालात पैदा हुए हैं जिसमें अमरीका में खर्च में कटौती पर विचार किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि अमरीकियों के बीच अब वो इच्छाशक्ति और धैर्य नहीं बचा है कि वो उन राष्ट्रों के लिए धन देते रहें जो अपनी रक्षा के लिए ख़ुद ख़र्च करने को तैयार नहीं हैं.

अमरीकी रक्षा मंत्री ने चेतावनी दी कि भविष्य में जो अमरीकी नेता देश की कमान संभालेंगे उन्होंने शीत युद्ध का समय नहीं देखा हुआ होगा, इसीलिए उन्हें नेटो पर किए जाने वाले ख़र्च के महत्व का एहसास नहीं होगा.

संबंधित समाचार