पूर्व महिला मंत्री बलात्कार की दोषी

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption रवांडा में 1994 में हुए जनसंहार में लाखों लोग मारे गए थे

रवांडा की एक पूर्व महिला मंत्री को टुट्सी समुदाय की लड़कियों के बलात्कार और नरसंहार में भूमिका के लिए उम्र क़ैद की सज़ा सुनाई गई है.

65 वर्ष की पॉलीन नइरामासुहुको ऐसी पहली महिला हैं जिन्हें रवांडा में नरसंहार मामलों से जुड़े ट्राइब्यूनल ने दोषी करार दिया है. इस ट्राइब्यूनल को संयुक्त राष्ट्र का समर्थन हासिल है.

पॉलीन नइरामासुहुको पर आरोप था कि टुट्सी समुदाय की लड़कियों के अपहरण और बलात्कार की योजना उन्होंने अपने बेटे के साथ मिलकर तैयार की. उस समय उनका बेटा आरसेन कुछ 20-22 साल का था. पू्र्व महिला मंत्री ने आरोपों से इनकार किया है.

रवांडा में 1994 में हुए जनसंहार में अल्यसंख्यक टुट्सी समदाय और हुटु समुदाय के करीब आठ लाखों को मार दिया गया था.

अभियोजन पक्ष का कहना है कि अपने बेटे के साथ मिलकर पूर्व महिला मंत्री लोगों से ज़बरदस्ती अपने पूरे कपड़े उतारने को कहती थी और फिर उन्हें ट्रक में लाद दिया जाता था और मार दिया जाता था.

दस साल तक चली सुनवाई के बाद पूर्व महिला मंत्री, उनके बेटे और चार पूर्व अधिकारियों को दोषी ठहराया गया है.

संबंधित समाचार