इतिहास के पन्नों से

इतिहास के पन्नों को पलटें तो पाएगें कि जून 26 के ही दिन वर्ष 2008 में गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में क्रमवार बम धमाके हुए थे जिसमें कई लोग मारे गए थे.

इसी दिन वर्ष 1963 में अमरीका के राष्ट्रपति जॉन एफ़ कैनेडी ने जर्मनी में एक ऐतिहासिक भाषण दिया था.

2008 : गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में बम धमाके

Image caption चार धमाके राज्य के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्वाचन क्षेत्र में किये गए थे.

साल 2008 में जून 26 के दिन एक दर्जन से ऊपर बम धमाके हुए थे जिनमें 50 से ज़्यादा लोग मारे गए थे.

ये सभी धमाके कम विस्फोटक क्षमता वाले बमों के ज़रिए किए गए थे. कई टीवी चैनलों ने दावा किया कि उन्हें अपने आप को इंडियन मुजाहिदीन कहने वाले एक संगठन की तरफ़ से ईमेल मिला जिसमें इन विस्फोटों की ज़िम्मेदारी स्वीकार की गई थी. एक अन्य चरमपंथी संगठन हरकत उल जिहाद अल इस्लामी ने भी इन हमलों की ज़िम्मेदारी स्वीकारी थी.

इन धमाकों में दो अस्पतालों, रेलवे स्टेशन, थियेटर और बाज़ारों को निशाना बनाया गया था. इनमे से चार धमाके राज्य के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्वाचन क्षेत्र में हुए थे.

1963: कैनेडी का पश्चिमी जर्मनी में ऐतिहासिक भाषण

Image caption जॉन एफ़ कैनेडी ने कहा कि दुनिया में हर स्वतंत्र व्यक्ति एक बर्लिन वाला है

वर्ष 1963 में 26 जून के दिन अमरीकी राष्ट्रपति जॉन एफ़ कैनेडी ने पश्चिम जर्मनी के शहर बर्लिन एक बहुत बड़ी भीड़ को संबोधित किया था. उन्होंने बर्लिन को शीत युद्ध के दौरान विश्व में स्वतंत्रता का प्रतीक बताया था.

क़रीब एक लाख बीस हज़ार लोगों की भीड़ के सामने बोलते हुए जॉन एफ़ कैनेडी ने कहा था कि दुनिया में हर स्वतंत्र व्यक्ति एक बर्लिन वाला है. कैनेडी ने अमरीकी लोगों को पश्चिमी बर्लिन के लोगों के साथ खड़ा बताया.

पश्चिमी जर्मनी के लोगों के लिए ये भाषण एक बड़े उत्साहवर्धक के रूप में देखा जाता है क्योंकि इस भाषण के कुछ ही समय पहले बर्लिन की दीवार खड़ी हुई थी. कैनेडी का भाषण एक तरह से सोवियत संघ को चेतावनी के रूप में भी देखा गया क्योंकि सोवियत संघ पश्चिमी जर्मनी के साथियों को दूर करने की कोशिश कर रहा था.

इस भाषण के दो महीने बाद कैनेडी ने सोवियत संघ के साथ परमाणु परीक्षण पर प्रतिबंध लगाने के लिए एक समझौते के लिए बातचीत शुरू की थी. बर्लिन की दीवार आखिरकार नवंबर 1989 में जा कर गिरी और जर्मनी अक्टूबर 1990 में जा कर पुनः एक हो गया.

संबंधित समाचार