दादर के बाज़ार में ख़ून और कांच ही कांच

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption दादर में हुआ धमाका एक बस स्टॉप में हुआ

मुंबई में 13 जुलाई को हुए तीन धमाकों में से एक दादर में एक बस स्टॉप में हुआ. ये भीड़भाड़ वाले बाज़ार का इलाक़ा है. धमाके से बस स्टॉप के ढांचे का काफ़ी हिस्सा तबाह हो गया जिससे वहां मौजूद कई लोग ज़ख्मी हो गए.

चारों तरफ़ ख़ून के धब्बे और कांच के टुकड़े बिखरे पड़े थे. कई गाड़ियां इधर-उधर गिरी हुई थीं.

डरे हुए, चीखते और ख़ून से लथपथ लोग धमाके के स्थान पर इधर-उधर गिरे पड़े थे.

धमाके के चंद मिनटों के भीतर ही पुलिस के जवान पूरे इलाक़े में जमा हो गए. उनके हाथों में बम का पता लगानेवाली मशीनें थीं. पुलिस के हथियारबंद वाहनों ने थोड़ी दी देर में पूरे इलाके को घेर लिया था.

बस स्टॉप के पास ही एक मारुति एस्टीम कार खड़ी नज़र आ रही थी. उसके शीशे टूटे हुए थे. वहां मौजूद दुकानदार सदाशिव कांबले ने बताया, "कार में तीन लोग सवार थे. जैसे ही धमाका हुआ मैं अपनी जान बचाने के लिए भागा.''

एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, ''मैंने एक बड़े धमाके की आवाज़ सुनी. मैंने देखा कि लोग गंभीर रूप से ज़ख्मी हो गए हैं. चारों तरफ़ ख़ून ही ख़ून बिखरा था.''

दादर में जहां धमाका हुआ वो जगह मध्य मुंबई के एक बड़े शॉपिंग मॉल से थोड़ी ही दूर पर है. जैसे ही धमाका हुआ वहां हंगामा मच गया.

धमाके के तुरंत बाद बस स्टॉप के इलेक्ट्रिक मीटर बॉक्स से चिनगारी निकलने लगी.

दो अन्य धमाके ओपरा हाउस और ज़वेरी बाज़ार इलाके में हुए हैं.

संबंधित समाचार