रेबेका ब्रुक्स की हुई गिरफ्तारी

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption रुपर्ट मर्डोक लगातार रेबेका का बचाव कर रहे थे

न्यूज़ इंटरनेशनल की पूर्व मुख्य कार्यकारी रेबेका ब्रुक्स को फोन हैकिंग और घूस दिए जाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है.

मेट्रोपोलिटन पुलिस ने कहा है कि 43 वर्षीय एक महिला को गिरफ्तार किया गया है और उन्हें लंदन के पुलिस स्टेशन में रखा गया है.

पुलिस ने फोन हैकिंग मामले में यह दसवीं गिरफ्तारी की है. अख़बार न्यूज़ ऑफ द वर्ल्ड पर फोन हैक करने के गंभीर आरोप हैं.

रेबेका को फोन हैकिंग मामले में साजिश रचने और भ्रष्टाचार के संदेह में गिरफ़्तार किया गया है.

इस मामले की जांच ऑपरेशन विटिंग टीम कर रही है.

रेबेका की गिरफ़्तारी में ऑपरेशन एल्वेडन टीम का भी हाथ है जो कि इसी मामले में पुलिस को घूस दिए जाने की जांच कर रही है. यह जांच स्वतंत्र पुलिस शिकायत कमीशन कर रही है.

रेबेका ने शुक्रवार को ही न्यूज़ इंटरनेशनल के सीईओ पद से इस्तीफ़ा दिया था.

ब्रिटेन में फोन हैकिंग का मामला काफ़ी गंभीर मोड़ ले चुका है और इसी कारण न्यूज़ ऑफ द वर्ल्ड नामक 168 वर्ष पुराने अख़बार को बंद करने का फ़ैसला किया गया.

माना जाता है कि अख़बार ने जिस समय फोन हैकिंग से जुड़े फैसले किए थे उस समय रेबेका ही अख़बार की संपादक थीं.

अख़बार पर आरोप है कि उन्होंने ब्रिटेन में चरमपंथी हमलों से प्रभावित लोगों के परिवारों के फोन हैक किए. इतना ही नहीं अख़बार पर कई बड़े लोगों के फोन हैक करने का भी आरोप है.

इतनी ही नहीं पूर्व में एक अपह्त लड़की की मौत के बाद लड़की के मोबाइल से संदेश मिटाने का आरोप भी अख़बार पर है. इस किशोरवय लड़की के परिवार वाले इस मुद्दे पर अत्यंत नाराज़ हैं.