नैटो गठंधन को मिलेगा नया प्रमुख

अफ़ग़ानिस्तान में नैटो गठबंधन के प्रमुख जनरल डेविड पेट्रियस सैन्य अभियान की ज़िम्मेदारी अपने उत्तराधिकारी लेफ़्टिनेंट जनरल जॉन ऐलन को सौंप रहे हैं. जनरल पेट्रियस अमरीका में सीआईए प्रमुख की ज़िम्मेदारी संभालेंगे.

जनरल पेट्रियस 37 साल से अमरीकी सेना में है. उन्हें इराक़ युद्ध की दिशा बदलने का श्रेय दिया जाता है. 2007 में वहाँ अतिरिक्त अमरीकी सैनिक भेजकर तत्कालीन

अमरीकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने अभियान का दायित्व जनरल पेट्रियस को सौंपा था.

अफ़ग़ानिस्तान अभियान से वे 2010 में जुड़े और तालिबान से लड़ने के लिए तीस हज़ार से अधिक और सैनिकों की तैनाती करवाई.इससे पहले रविवार को नैटो ने बामियान प्रांत का नियंत्रण अफ़ग़ान सुरक्षाबलों को सौंप दिया था.

बामियान उन सात प्रांतों में से एक है जहाँ की सुरक्षा ज़िम्मेदारी अफ़ग़ान सुरक्षाबलों की दी जानी है. इसकी घोषणा अफ़ग़ान राष्ट्रपति करज़ई ने मई में की थी.

अफ़ग़ान सुरक्षाबलों पर ज़िम्मेदारी

2014 में विदेशी गठबंधन सेना का अफ़ग़ान सैन्य अभियान ख़त्म होना है. उससे पहले सुरक्षा ज़िम्मेदारी अफ़ग़ान सुरक्षाबलों को सौंपा जाना अहम कदम माना जा रहा है.

अगले कुछ महीनों में अफ़ग़ानिस्तान से अमरीकी सैनिकों की वापसी का पहला चरण शुरु हो जाएगा.

बीबीसी संवाददाता संजय मजूमदार का कहना है कि काबुल में राष्ट्रपति के सलाहकार की हत्या जैसी घटनाएँ दर्शाती हैं कि स्थिति चुनौतीपूर्ण है. इससे पहले हामिद करज़ई के सौतेले भाई की हत्या कर दी गई थी.

संवाददाताओं का कहना है कि हताहतों की बढ़ती संख्या के बावजूद कई इलाक़ों में स्थिति सुधरी है. इसका कारण हज़ारों नए अफ़ग़ान पुलिसबल और सैनिकों की तैनाती और अतिरिक्त अमरीकी सैनिकों की तैनाती बताया जा रहा है.

लेकिन संवाददाताओं ने आगाह किया है कि अफ़ग़ान पुलिस और सैनिक शायद तालिबान के नए अभियान का सामना शायद न कर पाएँ.

संबंधित समाचार