अपने बयान पर कायम हैं मर्डोक

जेम्स और रूपर्ट मर्डोक इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption जेम्स मर्डोक ने कहा है कि वे संसद को दिए गए बयान पर क़ायम हैं.

ब्रिटेन में फ़ोन हैकिंग के आरोप झेल रही मीडिया कंपनी 'न्यूज़ इंटरनेशनल' के चेयरमैन जेम्स मर्डोक ने कहा है कि वो ब्रितानी संसद के सामने दिए अपने हर बयान पर क़ायम है.

मर्डोक को ऐसा इसलिए कहना पड़ा है क्योंकि उनकी कंपनी के कुछ पूर्व अधिकारियों ने संसद को दिए गए मर्डोक के सबूतों पर सवाल उठाए थे.

मर्डोक ने ब्रितानी सांसदों को बताया था कि उन्हें एक वरिष्ठ रिपोर्टर और एक निजी जांचकर्ता के फ़ोन हैकिंग में संलिप्त होने के बारे में नहीं बताया गया था.

लेकिन अब बंद हो चुके समाचार पत्र 'न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड' के पूर्व संपादक कॉलिन माइलर और न्यूज़ इंटरनेशनल के वकील टॉम क्रोन ने कहा है कि उन दोनों ने जेम्स मर्डोक फ़ोन हैकिंग की बात बताई थी.

एक अन्य घटना में फ़ोन हैकिंग के मामले में सन अख़बार के फ़ीचर संपादक मैट निक्सन को बर्ख़ास्त कर दिया गया है. सन अख़बार की मालिक भी रूपर्ट मर्डोक की कंपनी न्यूज़ इंटरनेशनल है.

न्यूज़ इंटरनेशनल ने एक बयान जारी करके इसकी पुष्टि की है और कहा है कि मैट निक्सन पहले 'न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड' में काम करते थे और उस अख़बार में उनके काम के कारण ये कार्रवाई की गई है.

संबंधित समाचार