ओस्लो विस्फोट में सात की मौत

ओस्लो
Image caption धमाका जिस इलाके में हुआ है वहां ज़्यादातर सरकारी दफ़्तर स्थित हैं.

यूरोपीय देश नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में प्रधानमंत्री कार्यालय के पास एक बड़ा धमाका हुआ है जिससे कई सरकारी इमारतें क्षतिग्रस्त हुईं हैं.

पुलिस के अनुसार मरने वालों की संख्या बढ़कर सात हो गई है.

राजधानी ओस्लो में ये धमाका ऐसे इलाक़े में हुआ है जहाँ ज़्यादातर सरकारी दफ़्तर स्थित हैं.

इस धमाके में नॉर्वे के प्रधानमंत्री येन्स स्टोल्तनबर्ग का दफ़्तर और कई अन्य सरकारी इमारतों को ख़ासा नुक़सान पहुंचा है.

स्थानीय मीडिया के मुताबिक़ प्रधानमंत्री सुरक्षित हैं.

तस्वीरों में: ओस्लो में धमाका

पुलिस का कहना है कि विस्फोट बम की वजह से हुआ है.

गोलीबारी

राजधानी ओस्लो में विस्फोट के बाद नॉर्वे के एक अन्य इलाक़े में गोलीबारी हुई है.

ख़बरों के मुताबिक़ ओस्लो से पश्चिमोत्तर में ये घटना हुई है.

ख़बर है कि पुलिसवाले की पोशाक पहले एक व्यक्ति ने नॉर्वे की लेबर पार्टी की ओर से आयोजिक एक यूथ कैंप में हिस्सा ले रहे युवकों पर अंधाधुंध गोलियाँ चलाई हैं.

इस गोलीबारी में चार लोगों के घायल होने का समाचार है. प्रधानमंक्षत्री येंस स्टॉल्टनबर्ग ने कहा है कि गंभीर स्थिति पैदा हो गई है.

आग और धुँआ

दूसरी ओर ओस्लो में हुए विस्फोट के बाद घटनास्थल से मिल रही ताज़ा तस्वीरों में साफ़ देखा जा सकता है कि जिस इलाके में धमाका हुआ वहां सड़क पर हर तरफ खिड़कियों से टूटे हुए कांच के टुकड़े बिखरे पड़े हुए थे.

कुछ तस्वीरों में सरकारी इमारतों से धुआं निकलते भी साफ़तौर पर देखा जा सकता है.

अधिकारीयों ने इलाक़े को पूरी तरह से खाली करा दिया है जबकि घटनास्थल के इर्द गिर्द पुलिस पहरा दे रही है.

चश्मदीदों ने बताया कि वातावरण में धुआं और इमारतों से उखड़े हुए प्लास्टर के टुकड़े फैले हुए हैं.

सड़क पर यहाँ वहाँ ख़ून भी बिखरा दिख रहा है.

नॉर्वे में रेड क्रॉस के संचार प्रमुख ओइस्तेन यारुम ने बताया कि उनका दफ़्तर घटनास्थल के सबसे करीब है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय जिस 17 मंजिली इमारत में स्थित है उसमे आग लगी हुई थी.

अधिकारियों का कहना है कि बहुत से लोग अभी भी इन इमारतों में फँसे हुए हैं.

संबंधित समाचार