'नॉर्वे कमीशन' करेगा ब्रेविक हमलों की जांच

नॉर्वे इमेज कॉपीरइट Reuters

नॉर्वे के प्रधानमंत्री येंस स्टॉल्टनबर्ग ने '22 जुलाई कमीशन' के गठन की घोषणा करते हए कहा है कि गत शुक्रवार को हुए बम धमाके और हमले की पूरी जांच होगी.

प्रधानमंत्री स्टॉल्टनबर्ग के मुताबिक़ सभी राजनीतिक दलों ने इस कमीशन को गठित किए जाने पर सहमति जताई है और ये कमीशन हादसे के दौरान और उससे पहले की सभी घटनाओं की जांच करेगा.

एंडर्स बेरिंग ब्रेविक नामक एक अति दक्षिणपंथी चरमपंथी के यूटोया द्वीप पर किए गए दूसरे हमले के दौरान जिस गति से पुलिस ने कार्रवाई की उस पर कई सवाल उठ रहे हैं.

गत शुक्रवार को राजधानी ऑस्लो में सत्ताधारी लेबर पार्टी की इमारतों को बम का निशाना बनाया गया था जबकि यूटोया द्वीप पर चल रहे लेबर पार्टी के युवा शिविर के सदस्यों पर अंधाधुंध गोलियां चलाई गई थीं जिसमें कम से कम 76 लोग मारे गए.

बुधवार को पुलिस ने इन हमलों में मरने वाले 13 और लोगों के नाम जारी किए हैं.

मुआवज़ा

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption नॉर्वे के प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका देश अपने मूल्यों पर अडिग रहेगा

अपने निवास पर एक संवाददाता सम्मलेन में बात करते हुए प्रधानमंत्री येंस स्टॉल्टनबर्ग ने कहा जांच करने वाला ये कमीशन स्वतंत्र होगा और और इससे आगे के लिए सबक भी मिलेंगे.

साथ ही उन्होंने दुर्घटना में जान गंवाने वाले लोगों के लिए तमाम मुआवजों की भी घोषणा की.

प्रधानमंत्री येंस स्टॉल्टनबर्ग ने इस बात पर ज़ोर दिया कि उनका देश गत शुक्रवार को हुए हमलों से आतंकित नहीं होगा.

उन्होने कहा कि ये हिंसा घबराहट फैलाने के उद्देश्य से की गई थी लेकिन 'नॉर्वे के नागरिक दृढ़ता से अपने जीवन मूल्यों की रक्षा करेंगे'.

स्टॉल्टनबर्ग ने कहा कि नॉर्वे का समाज 'एक सहिष्णु और सबको साथ लेकर चलने वाला समाज है'.

प्रधानमंत्री स्टॉल्टनबर्ग ने कहा कि यह नॉर्वे के आधारभूत मूल्यों, लोकतंत्र और खुलेपन पर हमला था और इसका जवाब होगा और लोकतंत्र और खुलापन.

उन्होने कहा कि अभी नए सुरक्षा क़ानूनों पर विचार करने का समय नहीं है.

हमले अकेले ही किए गए

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption एंडर्स बेरिंग ब्रेविक ने इन हमलों की ज़िम्मेदारी ली है

इस बीच नॉर्वे के अधिकारियों का कहना है कि हमलावर ब्रेविक ने अकेले ही ये हमले किये.

नॉर्वे के घरेलू ख़ुफ़िया प्रमुख यान क्रिस्चियनसन ने बताया कि अब तक ऐसे कोई प्रमाण नहीं मिले हैं कि एंडर्स बेरिंग ब्रेविक का नॉर्वे के भीतर अन्य अति दक्षिणपंथी चरमपंथियों से कोई संबंध था.

लेकिन उन्होने कहा कि फिर भी इसकी जांच हो रही है क्योंकि इस व्यक्ति को लेकर कोई ख़तरा नहीं उठाया जा सकता.

ब्रेविक पर आतंकवाद के अभियोग लगाए गए हैं लेकिन पुलिस उनपर मानवता के विरुद्ध अपराध का अभियोग लगाने पर विचार कर रही है जिसके लिए 30 साल की जेल हो सकती है.

संबंधित समाचार