'समोसा मना है'

समोसा
Image caption समोसे को ग़ैर इस्लामी बताया गया है

सोमालिया के एक ताक़तवर चरमपंथी संगठन अल शबाब ने समोसे पर प्रतिबंध लगा दिया है.

सोमालिया की राजधानी मोगादिशु में बीबीसी संवाददाता मोहम्मद डोर ने इस प्रतिबंध का कारण बताया है कि व्यापारी समोसों में बिल्लियों का गोश्त मिला रहे थे.

सोमालिया में कीमे और सब्ज़ियों से भरे समोसे काफ़ी लोकप्रिय हैं.

अल शबाब के लोग अपने कब्ज़े वाले इलाक़ों में गाड़ियों पर लाउड स्पीकर लगा कर लोगों को समोसे के खिलाफ़ चेतावनी दे रहे हैं.

अकाल

समोसे पर यह प्रतिबंध ऐसे समय आया है, जब सोमालिया भीषण अकाल की चपेट में है और क़रीब आठ लाख बच्चों के भूख से मर जाने का ख़तरा है.

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक़ पूर्वी अफ्रीका में क़रीब एक करोड़ दस लाख लोग अकाल की चपेट में हैं. सोमालिया के क़रीब 37 लाख लोग इससे सबसे ज़्यादा प्रभावित हैं क्योंकि देश एक बहुत ही बुरे गृह युद्ध से गुज़र रहा है.

सोमालिया अकाल की इस बुरी हालत में इसलिए भी पहुँच गया, क्योंकि देश के एक बहुत बड़े हिस्से में सरकार और अंतरराष्ट्रीय सहायता एजेंसियाँ अल शबाब के कारण नहीं जा पा रहीं हैं.

अल शबाब के अल क़ायदा से गहरे संबंध बताए जाते है.

संबंधित समाचार