'साथियों ने की विद्रोही कमांडर की हत्या'

अब्दल फ़तह यूनुस

लीबिया के विद्रोही नेतृत्व का कहना है कि उनकी ही ब्रिगेड के एक सदस्य ने उनके सैन्य कमांडर जनरल अब्दुल फ़तह यूनुस की हत्या की है.

विद्रोहियों के तेल और वित्त मंत्री अली तारहुनी का कहना है कि जनरल यूनुस की हत्या कट्टर इस्लामी गुटों से संबध रखने वाले विद्रोही लड़ाकों ने की.

उनका कहना था कि जनरल यूनुस को लीबिया में जारी सैन्य कार्रवाई की जाँच के सिलसिले में पूछताछ के लिए बुलाया गया था. इसके बाद ये लड़ाके उन्हें वहाँ से ले गए और गोली मार दी.

अली तारहुनी ने ये भी कहा कि हत्यारे ने किस मक़सद से जनरल यूनुस की हत्या की, अभी तक इसका पता नही चला है.

साठ-गाँठ का शक़

इससे पहले लीबिया में विद्रोही नेशनल ट्रांज़िशनल काउंसिल यानी अस्थाई राष्ट्रीय परिषद के प्रमुख मुस्तफ़ा अब्दुल-जलील ने दावा किया था कि जनरल अब्दुल फ़तह यूनुस की हत्या कर्नल गद्दाफी समर्थक हत्यारों ने की है.

ख़बरों के मुताबिक़ जनरल यूनुस के परिवार वालों पर गद्दाफी समर्थक सेना से साठ-गाँठ का शक़ था.

विद्रोही सेना के कमांडर जनरल अब्देल फ़तह यूनुस लीबिया के गृह मंत्री रह चुके थे और इसी साल फ़रवरी महीने में उन्होंने विद्रोहियों से हाथ मिला लिया था.

इस हमले में जनरल यूनुस के दो अन्य सहयोगी कर्नल मुहम्मद ख़मिस और नासिर अल-मधकूर भी मारे गए थे.

ख़बरों में ये भी कहा गया था कि जनरल यूनुस और उनके दोनों सहयोगियों को गुरूवार को लीबिया के पूर्वी हिस्से से हिरासत में ले लिया गया था.

संबंधित समाचार