इराक़ के अबु ग़रेब मामले में सरग़ना रिहा

चार्लस ग्रेनर (फ़ाईल फ़ोटो) इमेज कॉपीरइट AP
Image caption चार्लस ग्रेनर के अपराध ने अमरीका के लिए काफ़ी परेशानी खड़ी कर दी थी.

इराक़ में अमरीकी क़ैद ख़ाने अबु ग़रेब में बंद इराक़ी क़ैदियों को प्रताडि़त करने और उनकी तस्वीर बनाने वाले अमरीकी सैनिकों के मुखिया को जेल से रिहा कर दिया गया है.

अमरीकी सेना के प्रवक्ता के अनुसार अबु ग़रेब मामले में दोषी पाए गए चार्लस ग्रेनर को दस साल की सज़ा सुनाई गई थी लेकिन उनको साढ़े छह साल की सज़ा पूरी करने के बाद रिहा कर दिया गया है.

पूर्व अमरीकी सैनिक चार्लस ग्रेनर को अपने छह साथियों के साथ अबु ग़रेब जेल में इराक़ी क़ैदियों को शारिरिक प्रताड़ना देने और उनके साथ यौन अत्याचार करने का दोषी पाया गया था और उन्हें दस साल की सज़ा सुनाई गई थी.

ग्रेनर और उनके साथियों ने इराक़ी क़ैदियों को निर्वस्त्र कर उनके साथ यौन अत्याचार किया था और फिर उनकी तस्वीरें खींची थी.

शर्मनाक तस्वीरें

ग्रेनर और उनके साथियों के ज़रिए ख़ींची गई तस्वीरें वर्ष 2004 में सार्वजनिक हुई थीं जिसकी पूरी दुनिया में निंदा की गई थी और अमरीका पर काफ़ी दबाव पड़ा था.

उन तस्वीरों से साफ़ लग रहा था कि क़ैदियों के साथ ऐसा व्यवहार कर अमरीकी सैनिक काफ़ी ख़ुश हो रहे थे.

Image caption इन तस्वीरों ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया था.

ग्रेनर ने उस वक़्त अपने बचाव में कहा था कि वो सेना के ख़ुफ़िया अधिकारियों के आदेश पर उन इराक़ी क़ैदियों के साथ ऐसा कर रहे थे ताकि वो पूछताछ के दौरान पूरा सहयोग करें.

ग्रेनर की पूर्व मंगेतर और जेल में उनकी सहयोगी लिंडी इंग्लैंड को भी इस मामले में तीन साल की सज़ा सुनाई गई थी जो वो पूरी कर चुकी हैं.

अमरीकी सेना की एक प्रवक्ता रेबेका स्टीड का कहना है कि ग्रेनर को कैनसस के फ़ोर्ट लेवनवर्थ जेल से रिहा कर दिया गया है लेकिन वह 2014 तक एक प्रोबेशन अधिकारी की निगरानी में रहेंगे.

ग्रेनर को उनके साथियों की अपेक्षा सबसे लंबी सज़ा सुनाई गई थी और जेल से रिहा किए जाने वाले वह आख़िरी सदस्य हैं.

इराक़ में काम कर रहीं मानवाधिकार कार्यकर्ता हेना अदवार ने समाचार एजेंसी एसोसियेटेड प्रेस से बातचीत के दौरान कहा कि चार्लस ग्रेनर की रिहाई पर इराक़ में

तीव्र प्रतिक्रिया होगी और लोगों की नाराज़गी बढ़ेगी.

हेना का कहना था, ''वह(ग्रेनर) एक ऐसे अपराध का दोषी पाया गया था जिसने पूरे अंतरराष्ट्रीय जगत को हिला कर रख दिया था.''

संबंधित समाचार