क्यूबा में समलैंगिक शादी

वेंडी इरीएपा और इग्नेशियो इस्ट्राडा इमेज कॉपीरइट AP
Image caption क्यूबा में पहली समलैंगिक शादी

क्यूबा में होने वाली पहली समलैंगिक शादी में एक मर्द और एक ट्रांसजेंडर महिला ने शनिवार को आपस में शादी कर ली.

क्यूबा में समलैंगिक शादी ग़ैर-क़ानूनी है लेकिन दुल्हन वेंडी इरीएपा क़ानूनी तौर पर एक महिला हैं.

वेंडी ने 2007 में एक ऑपरेशन करवा कर अपना लिंग परिवर्तन करवाया था. क्यूबा में लिंग परिवर्तन को क़ानूनी वैधता हासिल है.

वेंडी के मंगेतर इग्नेशियो इस्ट्राडा क्यूबा में समलैंगिक शादी के समर्थन में काम रहे लोगों में एक जाना माना नाम है. इग्नेशियो एचआईभी पौज़ीटिव भी हैं.

वर-वधू का कहना है कि उनकी शादी क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति फ़िडल कास्ट्रो के लिए एक तोहफ़ा है क्योंकि उन लोगों ने उसी दिन शादी की है जिस दिन कास्ट्रो का जन्मदिन है.

समलैंगिक मर्द और स्त्री, द्विलिंगी और ट्रांसजेंडर लोग क्यूबा में कई वर्षों से सरकारी भेदभाव के शिकार रहें हैं और क्रांति के शुरूआती दिनों में ऐसे कई लोगों को

श्रम शिविरों में भेज दिया जाता था जहां उनके 'क्रांति विरोधी' मूल्यों को ख़त्म किया जाता था.

सुधार

लकिन जब से राउल कास्ट्रो ने सत्ता संभाली है उन्होंने समलैंगिकों के अधिकार में कई सुधार किए हैं जिनमें लिंग परिवर्तन को क़ानूनी मान्यता देना भी शामिल है.

वेंडी ने एक सरकारी अस्पताल में अपना लिगं परिवर्तन करवाया था जिसकी प्रमुख राउल कास्ट्रो की पुत्री मेरिऐला हैं.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption क्यूबा में लोग फ़िडेल कास्ट्रो का 85वां जन्मदिन मना रहें हैं.

वेंडी ने समाचार एजेंसी एएफ़पी से बातचीत के दौरान कहा, ''ये बहुत बढ़िया है. ये क्यूबा में पहली समलैंगिक शादी है. मैं नहीं चाहती कि इसे राजनीतिक क़दम के रूप में देखा जाए. हालाकि ये फ़िडेल के लिए एक तोहफ़ा है लेकिन मुझे इसकी चिंता नहीं है कि सरकार क्या सोचती है.''

इग्नेशियो इस्ट्राडा ने कहा कि वो खुद को हमेशा एक समलैंगिक पुरूष मानते थे लेकिन वेंडी के साथ उनका संबंध एक दम अलग है.

उनका कहना था, ''मुझे पता नहीं कि आज मैं क्या हूं, मैं सिर्फ़ इतना जानता हूं कि मैं एक महिला के प्यार में हूं.''

उन्होंने कहा कि उन लोगों की शादी किसी को चिढ़ाने के लिए नहीं है बल्कि वेंडी के साथ उनके रिश्तों को एक स्वीकृति देना है.

फ़िडेल कास्ट्रो के 85वीं जन्मदिन पर पूरे क्यूबा में जश्न मनाया गया लेकिन पचास वर्षों तक क्यूबा का नेतृत्व करने वाले फ़िडेल कास्ट्रो इन समारोहों में शामिल नहीं हुए.

गंभीर बीमारी के कारण 2006 में अपने भाई को सत्ता सौंपने के बाद फ़िडेल को शायद ही कभी लोगों के बीच देखा जाता है.

संबंधित समाचार