सीरिया में फिर कार्रवाई, नाता तोड़ने की अपील

सीरिया में प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट BBC World Service

सीरिया के अनेक शहरों में प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ फ़ौज ने कार्रवाई की है और फ़ायरिंग में 16 प्रदर्शनकारी मारे गए हैं.

उधर अमरीका ने सीरिया को अलग-थलग करने के लिए वहाँ से तेल और गैस की ख़रीद पर प्रतिबंध लगाने और उसे हथियारों की बिक्री बंद करने का आहवान किया है.

मिस्र और ट्यूनिशिया में इस साल फ़रवरी में भड़के सरकार विरोधी प्रदर्शनों और सत्ता परिवर्तन के बाद से सीरिया में मार्च से ही सरकार विरोधी प्रदर्शन कर रहे हैं. मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के अनुसार मार्च से अब तक देश में 1700 आम नागरिक फ़ौज की कार्रवाई में मारे गए हैं.

प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति बशर अल असद के इस्तीफ़ो और व्यापक राजनीतिक सुधारों की मांग कर रहे हैं.

भारत, चीन बनाएँ सीरिया पर दबाव

सीरिया में पिछले 40 साल से असद परिवार सत्ता में बना हुआ है और राष्ट्रपति असद ने कुछ राजनीतिक सुधारों का वादा भी किया है.

इमेज कॉपीरइट no
Image caption सीरिया में मार्च से राष्ट्रपति असद की सरकार के ख़िलाफ़ प्रदर्शन हो रहे हैं

ग़ौरतलब है कि सीरिया के साथ-साथ यमन में भी लाखों ने सड़कों पर उतर कर राष्ट्रपति अली अब्दुल्लाह सालेह के इस्तीफ़े की मांग की है.

उधर लीबिया रूस ने लीबिया के ख़िलाफ़ प्रतिबंध लगाने और कर्नल गद्दाफ़ी और उनके रिश्तेदारों के रूस आने पर रोक लगा दी है. लेकिन विद्रोह का सामना कर रहे कर्नल गद्दाफ़ी की सरकार ने कहा है कि बरेगा शहर पर उसकी फ़ौज का कब्ज़ा है.

सीरिया में फ़ौज की फ़ायरिंग

शुक्रवार को जुमे की नमाज़ के बाद सीरिया के अनेक शहरों में प्रदर्शन हुए.

राजधानी दमिश्क के कुछ हिस्सों, हम्स, देर अल ज़ौर, एलीपो और इदलीब में प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ हुई सेना की कार्रवाई में 16 लोग मारे गए हैं.

दमिश्क के एक इलाक़े में एक महिला और उसका 16 वर्षीय बेटा मारे गए. सरकारी टीवी ने कहा है कि राजधानी में दो सुरक्षाकर्मियों को गाली मार दी गई.

मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के मुताबिक देर अल ज़ौर में जुमे कि नामाज़ के बाद जब लोग दो मस्जिदों से बाहर निकल रहे थे तब सैनिकों ने उन पर गोलियाँ चलाईं.

एक सीरियाई डॉक्टर ने बीबीसी को बताया है कि यदि कोई डॉक्टर घायल लोगों का इलाज करता है या मदद करता है तो उसे निशाना बनाया जाता है और गिरफ़्तार कर लिया जाता है.

सीरिया की सरकार पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ रहा है लेकिन सीरिया प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ सैन्य कार्रवाई बंद करने के लिए तैयार नज़र नहीं आ रही है.

संबंधित समाचार