मुबारक की सुनवाई पाँच सिंतबर तक टली

होस्नी मुबारक इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption होस्नी मुबारक एक बार फिर अस्पताल के बिस्तर पर अदालत में पहुँचे

मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति होस्नी मुबारक पर चल रहे मुक़दमे की सुनवाई पाँच सितंबर तक के लिए टाल दी गई है.

इसके अलावा अब जज ने ये भी कहा है कि इसके बाद से जब तक अंतिम फ़ैसला नहीं आ जाता अदालत में टेलिविज़न कैमरों पर प्रतिबंध रहेगा.

अगर उन पर इस साल मिस्र में हुए विद्रोह के दौरान प्रदर्शनकारियों की हत्या का आदेश देने का आरोप सिद्ध हो जाता है तो 83 वर्षीय मुबारक को मौत की सज़ा भी हो सकती है.

एक बार फिर वह अस्पताल के बिस्तर पर ही अदालत में लाए गए और इस दौरान उन्होंने दोनों बेटों अला और गमाल से बात की.

दोनों बेटों पर भी मुक़दमा चल रहा है हालाँकि इन सभी ने आरोपों से इनकार किया है.

बहस के बाद जज अहमद रफ़ात ने कई फ़ैसले सुनाए. अभियोग पक्ष की माँग मानते हुए उन्होंने इस मुक़दमे को पूर्व मंत्री हबीब अल-आदली के मुक़दमे के साथ जोड़ने की घोषणा की.

अल-आदली पर भी प्रदर्शनकारियों को मारने के आदेश देने का आरोप है.

फ़ैसले

जज ने ये भी कहा हि वह लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए मुक़दमे का टेलिविज़न पर सीधा प्रसारण भी रोक रहे हैं. माना जा रहा है कि ऐसा अदालत में हो रही अव्यवस्था के सीधे प्रसारण को रोकने के मक़सद से भी किया गया है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अदालत के बाहर मुबारक के समर्थक भी खड़े हैं और विरोधी भी

अदालत में कई वकील एक साथ बोलने की होड़ में दिखते हैं. पहली ही सुनवाई की तरह जज को अदालत में व्यवस्था क़ायम रखने में परेशानी हुई क्योंकि वहाँ 100 से ज़्यादा वकील मौजूद थे. जज को बार-बार उनसे अपनी कुर्सियों पर बैठने की अपील करनी पड़ी.

फ़रवरी में मिस्र में हुए व्यापक विरोध प्रदर्शनों के बाद मुबारक को इस्तीफ़ा देना पड़ा था.

स्थिति की संवेदनशीलता को देखते हुए दंगा निरोधक दस्ते के सैकड़ों पुलिसकर्मी अदालत के बाहर चौकस खड़े थे.

वहाँ मुबारक के समर्थक भी इकट्ठा हुए और नारे लगा रहे थे कि 'मौत तक वह मिस्र के हैं' और 'होस्नी मुबारक सद्दाम नहीं हैं'. इन समर्थकों का रह-रहकर मुबारक विरोधियों के साथ संघर्ष भी हुआ.

सेना के एक हेलिकॉप्टर में मुबारक को लाया गया. सरकारी टेलीविज़न ने पूर्व राष्ट्रपति को नीले रंग के कपड़ों में एंबुलेंस से बाहर अस्पताल के एक बिस्तर पर निकाले जाते हुए दिखाया. उनके बेटे अला ने कैमरों को घेरने की कोशिश की.

मुबारक की सेहत ख़राब है और डॉक्टर लगातार उनकी हालत पर नज़र रखे हैं.

संबंधित समाचार