त्रिपोली पर विद्रोहियों का दो-तरफ़ा हमला

लीबिया
Image caption लीबिया में विद्रोही त्रिपोली से ज़्यादा दूर नहीं रह गए हैं

लीबिया में विद्रोहियों को हाल में मिली कामयाबियों के बाद लड़ाके राजधानी त्रिपोली को दोनों ओर - पूर्व और पश्चिम से घेरने की कोशिश कर रहे हैं.

पूर्व में, सैकड़ों विद्रोही लड़ाके जद्दियाम शहर से राजधानी त्रिपोली की तरफ़ बढ़ रहे हैं.जद्दियाम राजधानी से 40 किलोमीटर दूर है.

बीबीसी के एक संवाददाता का कहना है कि ज़ाविया के पूर्व में बसे शहर से त्रिपोली की तरफ़ बढ़ रहे हथियारों से लैस हैं और उन्हें उम्मीद है कि वो रात घिरने से पहले वहां पहुंच जाएंगे.

हालांकि पश्चिम से उनका मार्च माया शहर के पास भारी हमले का शिकार हुआ है.

पहले त्रिपोली शहर में घंटो हुई गोलीबारी के बाद लीबिया के नेता कर्नल ग़द्दाफ़ी ने एक रेडियो संदेश में कहा था कि 'उनके समर्थकों ने शहर में घुस आए चूहों को खदेड़' दिया है.

बदले का इरादा

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption कर्नल गद्दाफ़ी के समर्थकों की रात में हुई लड़ाई में जीत हुई थी.

इधर लीबिया सरकार के प्रवक्ता मूसा इब्राहीम ने कहा है कि फ़ौरन युद्धविराम किया जाए और अंतरराष्ट्रीय बिरादरी से अपील की है कि कर्नल ग़द्दाफ़ी को सत्ता से हटाए जाने की बात को शांति समझौतों का केंद्र बिंदू न बनाया जाए.

मूसा इब्राहीम ने कहा कि अगर विद्रोही त्रिपोली पहुंच भी जाते हैं तो उनके पास कोई राजनीतिक योजना नहीं है.

उन्होंने कहा कि विद्रोहियों प्रजातंत्र नहीं बल्कि ख़ून-ख़राबा और बदला चाहते हैं. मूसा इब्राहीम ने नैटो को चेतावनी दी कि वो किसी भी तरह के ख़ून-ख़राबे के लिए ज़िम्मेदार होगा.

त्रिपोली से बीबीसी संवाददाता मैथ्यू प्राइस का कहना है कि कर्नल ग़द्दाफ़ी पहले कभी इस तरह के दबाव में नहीं आए थे.

संवाददाता के मुताबिक हालांकि विद्रोहियों को वफ़ादार सैनिकों की झड़पें झेलनी होंगी लेकिन रात में त्रिपोली में हुई लड़ाई से लगता है कि भीतर में भी विद्रोह पनप रहा है.

संबंधित समाचार