चीनी जनरल ने जासूसी के मामले बताए

Image caption चीन के जनरल ने विश्वविद्यालय में एक भाषण के दौरान जासूसी के मामले सार्वजनिक किए

चीन के एक जनरल ने पिछले एक दशक में कम्युनिस्ट पार्टी के कई वरिष्ठ अधिकारियों के जासूसी करने और चीन की गुफ़िया जानकारी अन्य देशों को बेचने के बारे में जानकारी सार्वजनिक की है.

इन अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के अभियोग चलाए गए थे लेकिन असल में इन पर जासूसी करने के आरोप थे.

वीडिया फ़ुटेज इंटरनेट पर सार्वजनिक हुई है जिसमें चीन के मेजर जनरल जिन यिनान को जासूसी से संबंधित संवेदनशनशील मामलों की चर्चा करते दिखाया गया है.

उन्हें शिकायत करते दिखाया गया है कि कम्युनिस्ट पार्टी के कई सदस्य पथभ्रष्ट हो गए हैं और उन्होंने ख़ुफ़िया जानकारी अन्य देशों को बेची है.

चीन की सरकार ने इस वीडियो पर कोई टिप्पणी नहीं की है लेकिन इस जानकारी के सामने आने से चीन की सरकार को शर्मिंदगी ज़रूर हुई है.

परमाणु कार्यक्रम के पूर्व अध्यक्ष, राजदूत का ज़िक्र

बीजिंग की नेशनल डिफ़ेंस युनिवर्सिटी में भाषण देते हुए जनरल जिन यिनान ने बताया कि किस तरह से दक्षिण कोरिया में चीनी राजदूत ने उस देश को संवेदनशील जानकारी दी थी. अब ये वीडियो यू-ट्यूब पर भी उपलब्ध है.

सरकार ने राजूदत को पकड़ा लेकिन उनके ख़िलाफ़ आर्थिक मामलों से संबंधित अभियोग चलाया गया क्योंकि सरकार असल अपराध सार्वजनिक करने के बारे में शर्मिंदगी महसूस कर रही थी.

जनरल जिन यिनान ने एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी (चीन के परमाणु कार्यक्रम के पूर्व अध्यक्ष) के जासूसी करने के बारे में भी ज़िक्र किया.

उन्होंने बताया कि ठीक इसी तरह एक पीढ़ी पहले उस अधिकारी के पिता ने भी जासूसी की थी - हालाँकि उन्होंने कम्युनिस्टों के लिए जासूसी की थी, उनके ख़िलाफ़ नहीं.

माना जा रहा है कि ये भाषण विश्वविद्यालय के छात्रों को चेतावने के तौर पर सुनाया गया था.

संबंधित समाचार