गद्दाफी़ के गढ़ पर बातचीत 'असफल'

बनी वालिद इमेज कॉपीरइट AFP

लीबिया की अंतरिम सरकार के सैनिकों का कहना है कि बनी वालिद शहर पर नियंत्रण को लेकर अपदस्थ लीबियाई नेता कर्नल गद्दाफ़ी समर्थकों से बातचीत 'असफल' रही है.

कर्नल गद्दाफ़ी विरोधी एक मध्यस्थ ने बीबीसी को बताया कि शहर में आम नागरिक हट नहीं पा रहे और उन्हें डर है कि या तो इन नागरिकों को गोली मार दी जाएगी या फिर उनकी आड़ ली जाएगी.

इस मध्यस्थ का कहना था कि उसने ये मामला अब सैन्य कमांडरों को सौंप दिया है.

इस बीच अंतरिम सरकार का कहना है कि उसे अब यकी़न है कि कर्नल गद्दाफी के पुत्र ख़मिस मारे गए हैं.

लीबिया में अंतरिम प्रशासन की कमान संभाल रही नेशनल ट्रांजिशन काउंसिल यानी एनटीसी ने कहा है कि त्रिपोली के पास जारी लड़ाई में ख़मिस मारे गए और उन्हें बनी वालिद के निकट दफ़न कर दिया गया है.

एनटीसी के मुताबिक़ ख़ुफ़िया विभाग के पूर्व प्रमुख अब्दुलाह सेनुसी के पुत्र भी मारे जा चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption गद्दाफ़ी विरोधी सैनिकों ने बनी वालिद को तीन ओर से घेर रखा है.

हालांकि इन मौतों के बारे में और विस्तार नहीं दिए गए हैं लेकिन गौ़रतलब है कि क्रांति के दौरान ख़मिस गद्दाफ़ी की मौत की खबर पहले भी दो बार आ चुकी है.

बनी वालिद का घेराव

लीबिया की अंतरिम सरकार के समर्थक सैनिक अपदस्थ लीबियाई नेता कर्नल गद्दाफ़ी के बचे हुए ठिकानों को घेर रहे हैं.

गद्दाफ़ी विरोधी सैनिकों ने बनी वालिद को तीन तरफ़ से घेर लिया है और गद्दाफ़ी के वफ़ादारों से आत्मसमर्पण करने को कह रहे हैं.

कुछ लोगों का अनुमान है कि गद्दाफ़ी के परिवार के कुछ सदस्य बनी वालिद में हो सकते हैं.

मौजूदा स्थिति को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि बनी वालिद जैसे कई स्थानों पर हिंसक टकराव अभी बाक़ी है.

उधर संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून के विशेष सलाहकार इयन मार्टिन त्रिपोली पहुँच गए हैं जहाँ वे देश के निर्माण के अंतरराष्ट्रीय प्रयासों की देखरेख करेंगे.

संबंधित समाचार