इतिहास के पन्नों से

इतिहास में 6 सितंबर की तारीख़ कई घटनाओं के नाम दर्ज है. इसी दिन वेल्स की राजकुमारी डायना का अंतिम संस्कार किया गया था और भारतीय सेना ने पश्चिमी पाकिस्तान पर हमला किया था.

1997: लाखों लोगों ने डायना को भावभीनी विदाई दी

Image caption डायना के भाई, दोनों बेटे और पूर्व पति शव वाहन को देखते हुए

छह सितंबर 1997 को एक हफ़्ते तक अभूतपूर्व शोक मनाने के बाद वेल्स की राजकुमारी डायना को ब्रिटेन और दुनिया ने अंतिम विदाई दी थी.

चार मील की शवयात्रा के बाद राजकुमारी डायना के पार्थिव शरीर को वेस्टमिन्सटर एब्बे लाया गया जहां राजनेताओं और मशहूर हस्तियों ने राजपरिवार के सदस्यों के साथ डायना को एक सादे समारोह में अलविदा कहा था.

इस मौक़े पर इतिहास में पहली बार राजमहल पर फ़हराने वाले राष्ट्रीय झंडे को आधा झुका दिया गया था.

राजकुमारी डायना की 31 अगस्त को एक हादसे में मृत्यु हो गई थी जब उनकी कार पेरिस में दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी.

इस हादसे में डायना के दोस्त डोडी अल फ़यद और कार के ड्राइवर हेनरी पॉल भी मारे गए थे.

1965: भारतीय सेना का पश्चिमी पाकिस्तान पर हमला

Image caption भारतीय सेना ने कश्मीर सीमा से लगे पाकिस्तानी ठिकानों पर गोलीबारी की थी

आज ही के दिन 1965 में भारतीय सेना ने तीन जगहों से सीमा पार कर पश्चिमी पाकिस्तान पर हमला किया था.

माना जाता है कि इस सैन्य कार्रवाई का मक़सद लाहौर को निशाना बनाना था.

दिल्ली में बैठे भारतीय अधिकारियों ने कहा था कि सैन्य कार्रवाई का मक़सद भारत के ख़िलाफ़ पाकिस्तानी हमले को रोकना था.

25 अगस्त 1965 को पाकिस्तानी सेना ने 1949 की युद्धविराम रेखा का उल्लंघन करते हुए एक गुपचुप अभियान चलाया था.

ये रेखा 1949 की भारत-पाक लड़ाई के बाद भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर में क़ायम की गई थी.

उसके बाद से ही इस रेखा के आसपास कई छोटी-मोटी गोलीबारी हुई थी लेकिन ये पहली बार था कि भारतीय सेना ने पश्चिमी पाकिस्तान में प्रवेश किया था.

संबंधित समाचार