‘हत्यारा न पहने ‘लेकॉस्ट’ के कपड़े’

एंडर्स ब्रेविक इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ब्रेविक ने जुलाई 2011 में एक बम धमाके और गोलीबारी के ज़रिए 77 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था.

खबरों के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय ब्रांड ‘लेकॉस्ट’ ने नॉर्वे की पुलिस से कहा है कि नार्वे में हुए जनसंहार के लिए ज़िम्मेदार एंडर्स ब्रेविक को अदालत में पेशी के दौरान 'लेकॉस्ट' लिखी टी-शर्ट या जर्सी न पहनने दी जाए.

फ्रांस के एक समाचार पत्र के मुताबिक फ्रांसिसी मूल के कपड़ों के ब्रांड लेकॉस्ट की ओर से नॉर्वे के पुलिस अधिकारियों से यह विनती की गई है.

ब्रेविक ने जुलाई 2011 में एक बम धमाके और गोलीबारी के ज़रिए 77 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था.

माना जा रहा है कि ब्रेविक ने कहा है कि ‘लेकॉस्ट’ उसका पसंदीदा ब्रांड है और गिरफ़्तारी के बाद से ही वो लगातार ‘लेकॉस्ट’ के कपड़े पहने दिखाई पड़ता रहा है.

नार्वे में हुए जनसंहार के लिए 'ज़िम्मेदार' माने जाने वाले एंडर्स बेरिंग ब्रेविक ने कहा था कि भारत में हिंदुत्व का परचम बुलंद करने वालों को वो दुनिया की जनतांत्रिक व्यवस्थाओं के तख़्ता पलट की अपनी लड़ाई का अहम साझीदार मानते हैं.

हालांकि ‘लेकॉस्ट’ ने ब्रेविक के साथ अपने ब्रांड का नाम जुड़ने को लेकर फिलहाल कोई टिप्पणी नहीं की है.

समाचार पत्र डैगब्लैडेट के मुताबिक सरकारी वकील क्रिश्चियन हैटलो ने इस बात की पुष्टि की है कि लेकॉस्ट ने उनसे संपर्क किया है.

ब्रेविक को कई बार ‘लेकॉस्ट’ की काली रंग की जर्सी पहने भी देखा गया है.

इससे पहले अमरीका के ब्रांड ‘एबरक्रॉंम्बी’ की ओर से एमटीवी के एक रिएल्टी शो में ‘एबरक्रॉंम्बी’ के कपड़े पहनने पर रोक लगाने की मांग की गई था.

कहा गया था कि इससे ब्रांड की छवि पर बुरा असर पड़ेगा.

संबंधित समाचार