'ब्रिटेन में भी आया 9/11 सा क्षण'

 शनिवार, 10 सितंबर, 2011 को 14:46 IST तक के समाचार
टोनी ब्लयेर

टोनी ब्लयेर मानते हैं कि दस साल युद्ध के बाद दुनिया पहले से कहीं ज़्यादा सुरक्षित है

अमरीका में 9/11 को हुए चरमपंथी हमलों की दसवीं बरसी पर ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर ने कहा कि न्यूयॉर्क पर हुए चरमपंथी हमले के बाद उन्हें उससे मिलते-जुलते क्षणों का सामना करना पड़ा था.

बीबीसी को दिए एक ख़ास साक्षात्कार में ब्लेयर ने कहा कि 9/11 हमले बाद उनके सामने एक ऐसा प्रश्न आया जब उन्हें यह तय करना था कि क्या एक यात्री विमान को मार गिराया जाए. ऐसा मौका इसलिए आया क्योंकि विमान का संपर्क अचानक एयर ट्राफिक कंट्रोल से कट गया था.

'डरावने क्षण'

पूर्व प्रधानमंत्री ने उन क्षणों को याद करते हुए कहा कि वो बहुत ही डरावने क्षण थे.

पूर्व ब्रितानी प्रधानमंत्री ने कहा, "मैं उस निर्णय को टाल रहा था जब तक संभव हो. मैंने वो ख़तरा मोल लिया और उस विमान को नहीं गिराया गया."

ब्लेयर ने कहा, "हम उस क्षण के बहुत ही नज़दीक थे जब हमें यह तय करना था कि क्या इस हवाई जहाज़ को गिरा दिया जाए. इस काम के लिए लड़ाकू विमान को तैयार कर लिया गया था. मैं सीधे उस अधिकारी से बात कर रहा था जो इस अभियान का संचालन कर रहा था."

ब्लेयर यह कह कर चुप हो गए कि अगर उसे गिराने के बाद पता लगता कि वो जहाज़ ख़तरनाक नहीं था तो क्या होता.

'ओसामा की मौत महत्वपूर्ण'

ब्लेयर ने कहा कि चरमपंथ से युद्ध में ओसामा की मौत एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात है. उन्होंने माना कि चरमपंथी खतरे को समाप्त नहीं किया जा सका है लेकिन कई बड़े चरमपंथी नेता या तो मारे गए हैं या पकड़े गए हैं.

ब्लेयर ने कहा, "ओसामा की मौत अल क़ायदा के लिए एक बड़ा मनोवैज्ञानिक झटका है. हालाँकि अभी भी ऐसे लोग हैं जो अल क़ायदा के तौर तरीकों पर भले ही भरोसा न रखते हों लेकिन जो कुछ हुआ उसके पीछे अल क़यदा की राय को ज़रूर मानते हैं."

कई सालों तक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री रहने वाले ब्लेयर के अनुसार अमरीका पर दुनिया को बदल देने वाले चरमपंथी हमले के बाद दुनिया ने चरमपंथी हमलों के खतरे से निपटना सीखा है. उनका कहना है कि दुनिया आज पहले से एक सुरक्षित जगह है.

इसी विषय पर अन्य ख़बरें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.