नैरोबी में आग, 100 मौतें

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption कीनिया में पहले भी तेल इकट्ठा करने के चक्कर में कई लोग मारे गए हैं.

कीनिया की राजधानी नैरोबी के पास एक पाइपलाइन में हुए विस्फोट में 100 से अधिक लोगों के मरने की आशंका है.

समाचार एजेंसी एएफपी ने एक पुलिस प्रवक्ता थॉमस अतुती के हवाले से कहा है, ‘‘ हमारे अनुमान के मुताबिक मरने वालों की संख्या 100 से अधिक ही होगी.’’

स्थानीय रिपोर्टरों ने बीबीसी को बताया कि शहर के लुंगा लुंगा इलाक़े में विस्फोट के बाद लगी आग में कम से कम 100 शव अब तक गिने जा चुके हैं.

अग्निशमन दल के लोग आग बुझाने में लगे हैं. ये आग झुग्गियों के पास लगी है जहां से पाइपलाइनें गुज़रती हैं.

अधिकारियों के अनुसार अभी तक 80 घायलों को अस्पताल ले जाया गया है.

एंबुलेस सेवा के एक प्रवक्ता का कहना था कि कई लोग इतनी बुरी तरह जले हैं कि उन्हें पहचानना मुश्किल हो रहा है.

अभी तक विस्फोट के कारणों का पता नहीं चल पाया है.

पुलिस और सेना ने इलाक़े को पूरी तरह घेर लिया है.

स्थानीय निवासियों का कहना है कि कुछ समय पहले पाइपलाइन में हुई लीक के कारण की लोग तेल लेने के लिए वहां पहुंच गए थे.

समाचार एजेंसी एएफपी ने एक स्थानीय निवासी जोसेफ मवेगो के हवाले से कहा, ''बहुत ज़ोर का धमाका हुआ था. आग और धुआं निकल रहा था. आवाज़ भी बहुत तेज़ आई थी. ''

मरने वालों के बारे में और जानकारियां धीरे धीरे सामने आ रही हैं.

कई शव पास ही बहने वाली नदी में देखे गए हैं. बताया जा रहा है कि कई लोग आग लगने के बाद नदी में कूद गए थे.

कीनिया में पाइपलाइनों में विस्फोट की बात नई नहीं है. इससे पहले भी कई बार फटे पाइपों से तेल जमा करने के लिए पहुंचे लोग धमाकों में मारे गए हैं.

इससे पहले कीनिया के मोल शहर में वर्ष 2009 में तेल टैंकर गिरा था जिससे तेल जमा करने सैकड़ो लोग पहुंच गए थे. कुछ ही देर में टैंकर में धमाका हो गया जिसमें सौ लोग मारे गए थे.