लीबिया में विद्रोहियों पर गंभीर आरोप

लीबियाई विद्रोही इमेज कॉपीरइट AP
Image caption लीबियाई विद्रोहियों पर लगे हैं मानवाधिकार उल्लंघन के आरोप

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल ने लीबिया की राष्ट्रीय अंतरिम परिषद के अधिकारियों से अपील की है कि वे गद्दाफ़ी विरोधियों की ओर से जारी मानवाधिकार उल्लंघन को रोकें.

एमनेस्टी इंटरनेशनल का कहना है कि कर्नल गद्दाफ़ी की समर्थक सेना ने संघर्ष के दौरान अंतरराष्ट्रीय क़ानूनों का उल्लंघन किया और अपराध किया, लेकिन उसके पास इसके भी सबूत हैं कि विद्रोहियों ने भी दुर्व्यवहार किया.

संगठन का कहना है कि इनमें प्रताड़ना और गद्दाफ़ी समर्थक होने के संदेह में कई लोगों की हत्या भी शामिल है.

इतना ही नहीं एमनेस्टी इंटरनेशनल का कहना है कि गद्दाफ़ी विरोधियों की ओर से हुए कई दुर्व्यवहार युद्ध अपराध के स्तर के हैं.

जाँच

दूसरी ओर संयुक्त राष्ट्र में लीबिया की नई सरकार के उप राजदूत इब्राहिम डबाशी ने बीबीसी को बताया है कि संघर्ष के दौरान में देश में अफ़रा-तफ़री का आलम था और स्थितियों पर नियंत्रण कर पाना काफ़ी मुश्किल था.

उन्होंने कहा कि न्याय मंत्रालय के गठन के बाद इन आरोपों की जाँच की जाएगी.

एमनेस्टी इंटरनेशनल का कहना है कि इन मामलों की पूरी तस्वीर शायद अभी आनी बाक़ी है. लेकिन सत्ता हस्तांतरण के इस दौर में ये अहम है कि इन मुद्दों की अनदेखी न की जाए.

संगठन ने लीबिया के नए नेतृत्व से अपने समर्थकों पर लगाम लगाने के लिए कहा है और ये भी कहा है कि वे मानवाधिकार उल्लंघन के आरोपों की जाँच करें.

संबंधित समाचार