चीनी सौर प्लांट में विरोध प्रदर्शन

Image caption हैनिंग शहर की सौर पैनल फ़ैक्ट्री के बाहर से प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए दंगा पुलिस की तैनाती की गई

पूर्वी चीन के एक सौर पैनल प्लांट से प्रदूषण के ख़तरे को लेकर सैकड़ों ग्रामीण तीन दिन से प्रदर्शन कर रहे हैं.

क़रीब पांच सौ लोग झेजियांग प्रांत के हैनिंग शहर में स्थित झेजियांग जिंको सोलर कंपनी में गुरुवार से जमा हैं.

अधिकारियों के मुताबिक़ कुछ प्रदर्शनकारियों ने फ़ैक्ट्री में तोड़फोड़ की, कंपनी की कई कारों को पलट दिया और दफ़्तरों के सामान को क्षति पहुंचाई.

फ़ैक्ट्री के नज़दीक के गांव हॉन्गशियो के ग्रामीणों का कहना है कि फ़ैक्ट्री से होनेवाले प्रदूषण को लेकर उनकी चिंता तब बढ़ी जब बड़ी संख्या में नदी की मछलियों की मौत हो गई.

64 वर्षीय एक ग्रामीण ने एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि फ़ैक्ट्री एक स्कूल के नज़दीक स्थित है और अपना कचरा नदी में बहाती है. साथ ही प्लांट की दर्जनों चिमनियों से गहरा काला धुआं निकलता रहता है.

उन्होंने कहा, ''यहां रहने वाले लोग चाहते हैं कि इस फ़ैक्ट्री को किसी दूसरी जगह पर ले जाया जाए. मैं युवा पीढ़ी के स्वास्थ्य को लेकर बेहद चिंतीत हूं.''

फ़ैक्ट्री बंद

शुक्रवार को प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की चार गाड़ियों में तोड़फोड़ की थी और उसके बाद हालात को क़ाबू में लाने के लिए दर्जनों पुलिसकर्मी तैनात कर दिए गए थे.

हैनिंग के पर्यावरण सुरक्षा ब्यूरो के अधिकारी चेन हॉन्गमिंग के बयान को उद्धृत करते हुए चीनी न्यूज़ एजेंसी शिन्हुआ ने लिखा है कि अप्रैल के बाद से फ़ैक्ट्री कचरे के निपटारे के मानदंडों पर खरी नहीं उतर पा रही है.

उन्होंने आगे कहा कि पर्यावरण पर नज़र रखनेवाली इस संस्था ने फ़ैक्ट्री को चेतावनी दी थी लेकिन प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी क़दम नहीं उठाए गए.

ये कंपनी न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध एक चीनी कंपनी की सहायक ईकाई है.

हालांकि दोनों ही कंपनियों ने प्रदूषण के आरोपों और उसके ख़िलाफ़ हो रहे प्रदर्शन पर कोई बयान नहीं दिया है.

एक दूसरी घटना में, शंघाई प्रशासन ने शहर के पूर्वी हिस्से में स्थित दो फ़ैक्ट्रियों से ज़हरीले प्रदूषण की आशंका को देखते हुए उन्हें अस्थायी रूप से बंद करने के आदेश दिए हैं.

शंघाई पर्यावरण सुरक्षा ब्यूरो ने एक बयान में कहा है कि, ''सितंबर की शुरुआत में कांगियो इलाक़े में रहनेवाले कुछ बच्चों के ख़ून में सीसे की ज़्यादा मात्रा पाई गई थी.''

प्रभावित फ़ैक्ट्रियों में से एक शंघाई जॉनसन कंपनी का कहना है कि उसने बैटरी बनाने वाले प्लांट में उत्पादन फ़िलहाल बंद कर दिया है और अधिकारियों के साथ पूरा सहयोग सहयोग कर रही है.

हालांकि कंपनी ने ये भी कहा कि वो नहीं मानती कि प्लांट की वजह से ही प्रदूषण की समस्या पैदा हो रही है.

शंघाई जॉन्सन न्यूयॉर्क में सूचीबद्ध बड़ी कंपनी जॉनसन कंट्रोल्स की ही एक ईकाई है.

संबंधित समाचार