ओबामा की अमीरों पर टैक्स की योजना

राष्ट्रपति बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट AP
Image caption धनाड्य अमरीकियों पर प्रस्तावित कर ओबामा की बजट घाटे को कम करने की योजना का हिस्सा है

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ऐसे लोगों के लिए एक नए न्यूनतम कर का प्रस्ताव रखने वाले हैं जिनकी सालाना आय प्रतिवर्ष दस लाख डॉलर से ज़्यादा है.

राष्ट्रपति भवन के अधिकारियों का कहना है कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि धना़ड्य अमरीकी कम से कम मध्यम वर्ग की जनता जितना टैक्स भरें.

धनाड्य अमरीकियों पर प्रस्तावित कर राष्ट्रपति बराक ओबामा की सरकार के बजट घाटे को कम करने की योजना का हिस्सा है. ओबामा सोमवार को अपनी योजनाओं की विस्तार से जानकारी देंगे.

बफ़ेट नियम

रिपोर्टों के मुताबिक अमरीका के अरबपति व्यवसायी वारेन बफ़ेट के इस प्रस्ताव का नाम बफ़ेट नियम होगा.

वारेन बफ़ेट का कहना है कि करों के ढांचे में विसंगतियों के चलते धनाड्य वर्ग के लोग अपेक्षाकृत कम टैक्स भरते हैं. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि निवेश से होने वाली आमदनी पर नौकरी से मिलने वाले वेतन की तुलना में कम टैक्स लगता है.

नए प्रस्तावित कर से उन अमरीकियों पर प्रभाव पड़ेगा जो सालाना दस लाख डॉलर से ज़्यादा कमाते हैं.

रिपब्लिकन सांसदों द्वारा ओबामा की इस प्रस्तावित कर योजना का विरोध किए जाने उम्मीद है क्योंकि वो करों में किसी भी तरह की वृद्धि का विरोध करते रहे हैं

इस समय अमरीकी अर्थव्यवस्था मंदी के दौर से गुज़र रही है और बेरोज़गारी की दर नौ फ़ीसदी से ज़्यादा है.

अगले साल होने वाले चुनावों से पहले बराक ओबामा के सामने सबसे बड़ी चुनौती देश की अर्थव्यवस्था पटरी पर लाने की है.

संबंधित समाचार