जापान में तूफ़ान, चार की मौत

Image caption नागोया में बाढ़ का ख़तरा कम होने पर इलाक़ा खाली करने का आदेश वापस लिया गया

प्राकृतिक आपदा का सामना कर रहे जापान में आए एक शक्तिशाली तूफ़ान की वजह से हो रही भारी बारिश और बाढ़ से चार लोगों की मौत हो गई है.

'रोके' नाम का ये तूफ़ान फ़ुकूशिमा पहुंचने वाला है जहां इंजीनियर मार्च की सुनामी में तबाह हुए परमाणु संयंत्र को नियंत्रण में लाने की कोशिश कर रहे हैं.

ऐसी चिंता जताई जा रही है कि तूफ़ान की वजह से रेडियोधर्मी पानी समुद्र में मिल सकता है.

पूरे जापान में दस लाख से ज़्यादा लोगों को अपना घर छोड़कर सुरक्षित जगहों पर जाने की सलाह दी गई है.

हालांकि इस आदेश को एक इलाक़े में वापस ले लिया गया है लेकिन अभी भी 3,30,000 लोग ख़तरे की जद में हैं.

तूफ़ान बुधवार की दोपहर जापान के तट पर पहुंचा और अब जापान के मुख्य द्वीप होंशू की ओर बढ़ रहा है.

चेतावनी

भारी बारिश और बाढ़ की वजह से मध्य और पश्चिमी जापान में चार लोग मृत पाए गए हैं.

केंद्रीय प्रांत गिफ़ू में दो लोग लापता हो गए हैं जिनमें नौ साल का एक बच्चा भी शामिल है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption तूफ़ान तलास से हुई तबाही में क़रीब 90 लोग मारे गए थे

तूफ़ान की वजह से कई सड़क मार्ग बंद कर दिए गए हैं और सैकड़ों उड़ान रद्द कर दी गई हैं.

कार निर्माता कंपनी टोयोटा ने अपने 15 में से 11 फ़ैक्ट्रियों में काम रोकने का फ़ैसला किया है.

जापान के मौसम विभाग ने भारी बारिश, तेज़ हवाओं और ऊंची समुद्री लहरों को देखते हुए उच्च स्तरीय चेतावनी जारी की है.

मौसम विभाग ने बुधवार को जापान के बड़े क्षेत्र में भारी बारिश की चेतावनी दी है और कहा है कि कुछ इलाक़ों में 50 मिलीमीटर तक बारिश हो सकती है और बाढ़ के हालात पैदा हो सकते हैं.

एक महीने में ये दूसरी बार है कि जापान तूफ़ान का सामना कर रहा है.

पहले आए तूफ़ान 'तलास' ने देश के पश्चिमी इलाक़े में तबाही मचाई थी जिसमें क़रीब 90 लोग मारे गए थे या लापता हो गए थे.

संबंधित समाचार