मैदान के जंग में लड़ सकेंगी ऑस्ट्रेलियाई महिलाएँ

इमेज कॉपीरइट AFP

ऑस्ट्रेलिया में अब महिलाएँ हर तरह के ओहदे पर काम कर सकेंगी जिसमें जंग के दौरान लड़ना भी शामिल है. दुनिया में केवल कुछ ही देश ऐसे हैं जो लड़ाई के मैदान में महिला अफ़सरों को जाने की अनुमति देते हैं.

ऑस्ट्रेलियाई सेना में करीब 59 हज़ार लोग काम करते हैं जिसमें से 1500 अफ़ग़ानिस्तान में हैं. वर्तमान में महिलाएँ सेना में करीब 93 फ़ीसदी काम कर रही हैं. अब वे पुरुषों की तरह बाकी बचे सात फ़ीसदी काम भी कर पाएँगी.

अगर महिलाएँ मानकों पर खरी उतरती हैं तो वे अब विशेष सैन्य ईकाइयों का हिस्सा भी बन पाएँगी.

सरकार का कहना है कि ऑस्ट्रेलिया में यही माना जाता है कि हर कोई समान है और इसी धारणा को आगे बढ़ाते हुए नए फ़ैसले लिए गए हैं.

संबंधित समाचार