'सीरिया में विरोधी और सरकार बातचीत करें'

yousef ahmad इमेज कॉपीरइट reuters
Image caption अरब लीग में सीरिया के राजदूत यूसफ अहमद ने कुछ देशों पर विद्रोहियों को हथियार देने का आरोप लगाया.

कई महीनों की अशांति के बाद अरब लीग ने सीरिया सरकार और विरोधी दलों के बीच 15 दिनों के अंदर बातचीत करने के लिए कहा है.

मिस्र में एक आपात बैठक में अरब विदेशी मंत्रियों ने सीरिया को संगठन से निलंबित न करने का फ़ैसला किया है.

सीरिया ने योजना पर आपत्ति जताई है, जिसके तहत दोनों पक्षों को लीग के मुख्यालय काहिरा में मिलने का प्रस्ताव है.

इस बीच सीरिया के कई हिस्सों में घमासान लड़ाई जारी है.

कार्यकर्ताओं ने कहा कि सीरिया के सुरक्षा बलों ने लेबानान की सीमा से सटे जबादानी पर ताज़ा हमला किया है. उधर होम्स और इदलिब के राज्यों से भी झड़पों की ख़बरें हैं.

राष्ट्रपति बशर अल-असद के ख़िलाफ़ मार्च से शुरू हुए उपद्रव में अब तक 3,000 लोग मारे जा चुके हैं, जिनमें अधिकतर निहत्थे प्रदर्शनकारी शामिल हैं.

मतभेद

अरब विदेशी मंत्री सीरिया के प्रतिनिधि के बिना तीन घंटों के शुरुआती सत्र के लिए काहिरा में मिले. फिर उन्होंने सीरिया के राजनयिकों से बातचीत की, जो देर रात तक चली.

बातचीत की अध्यक्षता करने वाले क़तर के प्रधानमंत्री शेख हमद बिन जसिम अल-थानी ने बताया कि लीग ने सीरिया की सरकार से संपर्क करने का फ़ैसला किया ताकि अरब लीग के अंदर और उनके मार्गदर्शन में 15 दिन के भीतर राष्ट्रीय स्तर पर बातचीत हो पाए.

अरब लीग के फ़ैसले को सभी सदस्य देशों ने समर्थन दिया. हालांकि सीरिया ने इस पर आपत्ति जताई.

कुछ प्रतिनिधियों ने सीरिया को निलंबित करने की मांग की थी, लेकिन इसके लिए दो तिहाई सदस्यों के समर्थन की ज़रूरत थी.

संबंधित समाचार