'वैन गॉग ने ख़ुदकुशी नहीं की थी'

वैन गॉग इमेज कॉपीरइट AP

अद्वितीय डच चित्रकार और शिल्पकार विंसेंट वैन गॉग के बारे में ये कहा जाता है कि उन्होंने आत्महत्या की थी. लेकिन एक नई किताब में इसे ग़लत बताया गया है.

वैन गॉग के जीवन पर एक नई किताब के लेखकों का कहना है कि संभवतया वैन गॉग की मृत्यु दो लड़कों की बंदूक़ से चली गोली के कारण हुई.

इन लड़कों को वैन गॉग जानते थे. उनकी मृत्यु फ़्रांस से एक क़स्बे में 1890 में हुई जब वो सिर्फ़ 37 वर्ष के थे.

नई किताब के लेखक स्टीवन नाइफ़ेह और जॉर्ज व्हाइट स्मिथ का कहना है कि उन्होंने ये नतीजा दस साल तक शोध करने के बाद निकाला है.

उन्होंने कहा है कि उन्होंने वैन गॉग की कई ऐसी चिट्ठियों का इस्तेमाल किया है जिनका पहले कभी अनुवाद नहीं किया गया था.

काउब्वॉय खेल

Image caption वैन गॉग पेंटिंग बनाने के लिए गेहूँ के खेत तक जाया करते थे.

किताब में कहा गया है कि वैन गॉग ऑबर्ग रेवौ नाम की सराय में ठहरे थे जहाँ से वो गेहूँ के खेतों तक पेंटिंग्स बनाने के लिए पैदल जाया करते थे.

अब तक ये माना जाता था कि उन्होने गेहूँ के खेत में ख़ुद को गोली मार ली थी.

लेकिन स्टीव नाइफ़ेह ने कहा, “ये बात हमारे सामने बहुत स्पष्ट हो गई कि वो ख़ुद को गोली मारने के लिए गेहूँ के खेतों पर नहीं गए थे.”

उनका कहना है, “जो लोग उन्हें जानते थे वो इस बात पर सहमत थे कि उनकी मृत्यु दो लड़कों की ग़लती से हुई थी, लेकिन उन्हें बचाने के लिए वैन गॉग ने ख़ुद ये ज़िम्मेदारी स्वीकार कर ली थी.”

लेखकों ने कहा है कि तीस के दशक में मौक़े का मुआयना करने पहुँचे कला-इतिहासकार जॉन रेवॉल्ड ने इन बारीकियों को अपने वृत्तांत में दर्ज किया है.

किताब में लिखा गया है कि दो लड़के कावब्वॉय वाला खेल खेल रहे थे और उनमें से एक के पास ख़राब पिस्तौल थी. वो वैन गॉग के साथ शराब पीने जाया करते थे.

मानसिक व्याधि

नाइफ़ेह ने कहा, “दो किशोर वय के लड़के थे, जिन्होंने काउब्वॉय जैसे कपड़े पहने थे. उनमें से एक के पास ख़राब बंदूक़ थी और उनके साथ वैन गॉग थे और उन सब लोगों ने संभवतया ज़्यादा शराब पी ली थी.”

इन लेखकों ने अपनी किताब में कई और ‘रहस्योदघाटन’ भी किए हैं. मसलन उन्होंने कहा है कि वैन गॉग के परिवार वालों ने उन्हें मानसिक व्याधि के लिए एक मानसिक अस्पताल में भर्ती करवाने की कोशिश की थी.

वैन गॉग ने अपने पिता से भी इस क़दर झगड़ा किया था कि कुछ लोगों के मुताबिक़ उन्होंने उन्हें मार डाला था.

उनकी मानसिक व्याधि का कारण मिरगी बताई गई है.

संबंधित समाचार