युवराज नाएफ़ चुने गए सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस

युवराज नाएफ़ इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption कहा जाता है कि प्रिंस सुल्तान के भाई प्रिंस नाएफ़ भी उन्ही की तरह सामाजिक बदलाव के पक्षधर नही है.

सऊदी अरब में राज परिवार के युवराज नाएफ़ बिन अब्दुलअज़ीज़ अल साऊद को किंग अब्दुल्ला का उत्तराधिकारी नियुक्त किया गया है.

अगर किंग अब्दुल्ला की मौत होती है तो उनके बाद युवराज नाएफ ही सऊदी अरब के किंग होंगे.

इससे पहले युवराज रहे सुलतान बिन अब्दुल अज़ीज़ की एक हफ़्ते पहले मौत हो गई थी.

प्रिंस नाएफ़ 78 वर्ष के है और साल 1975 से सऊदी अरब के आंतरिक मंत्री है. अब वो उप प्रधानमंत्री का भी पद संभालेंगे.

सऊदी अरब के 87 वर्षीय राजा अबदुल्लाह की भी तबीयत ठीक नही है, वो पीठ दर्द से जूझ रहे है. पिछले एक साल में उनके पीठ का तीन बार ऑपरेशन किया जा चुका है.

कहा जाता है कि प्रिंस सुल्तान के भाई प्रिंस नाएफ़ भी उन्ही की तरह सामाजिक बदलाव के पक्षधर नही है.

सऊदी अरब के सरकारी टेलीविज़न चैनल पर शाही अदालत की ओर से प्रिंस नाएफ़ को उत्तराधिकारी बनाए जाने संबंधी फ़रमान को पढ़ा गया. फ़रमान के मुताबिक प्रिंस नाएफ़ को निष्ठा परिषद और किंग अबदुल्लाह की बैठक के बाद संयुक्त रूप से इस पद के लिए चुना गया.

निष्ठा परिषद साउदी अरब के शाही परिवार का एक समूह है जो कि वहा की राजशाही के उत्तराधिकारियों का चुनाव करता है.

आधुनिक साउदी अरब में साल 1902 से 1953 के बीच राज करने वाले किंग अब्दुल अज़ीज़ के बाद से उनके बेटे ही सत्ता पर काबिज़ है.

माना जा रहा है कि प्रिंस नाएफ़ के बाद उनके छोटे भाई और रियाध के राज्यपाल प्रिंस सलमान ही उनके उत्तराधिकारी होंगे.

संबंधित समाचार