सीरिया आम नागरिकों की हत्याओं पर लगाए रोक: अरब लीग

प्रदर्शनकारी इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सीरिया में बशर अल असद के ख़िलाफ़ मार्च महीने से प्रदर्शन हो रहे हैं.

अरब लीग के सदस्य देशों की मंत्री-परिषद ने सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद को एक आपात संदेश भेज कर सत्ता विरोधी प्रदर्शनों में भाग ले रहे आम नागरिकों की मौत की निंदा की है.

विदेश मंत्रियों की इस समिति ने राष्ट्रपति बशर अल असद से नागिरकों की सुरक्षा के लिए जल्द से जल्द क़दम उठाने की अपील की है.

प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति असद से सत्ता छोड़ने की मांग कर रहे हैं.

मानवाधिकार संगठनों से जुड़े कार्यकर्ताओं का कहना है कि शुक्रवार को सुरक्षाबलों की गोलीबारी में 37 लोगों की मौत हो गई.

ये प्रदर्शनकारी सीरिया को उड़ान निषिद्ध क्षेत्र बनाए जाने की मांग कर रहे थे.

कार्यकर्ताओं का कहना है कि इनमें से ज़्यादातार लोगों की मौत होम्स और हमा शहरों में हुई है.

मानवाधिकार संगठनों का कहना है कि देश के उत्तर में स्थित होम्स के अलावा हमा और डेरा में भी लोगों ने प्रदर्शन किए.

राष्ट्रपति बशर अल असद की सरकार का कहना है कि देश में अराजकता को सशस्त्र गुट और विदेशी चरमपंथी बढ़ावा दे रहे हैं ताकि सांप्रदियक झगड़े को उकसाया जा सके.

समाधान के लिए बैठक

सीरिया में विदेशी पत्रकारों को रिपोर्टिंग करने से रोका जा रहा है जिससे घटनास्थल पर हो रही घटनाओं की पुष्टि करने में दिक़्कत आ रही है.

अरब लीग ने ये भी कहा है कि समिति रविवार को क़तर में सीरिया के अधिकारियों के मुलाकात करेगी ताकि इस संकट को ख़त्म करने के लिए एक नतीजे पर पहुँचा जा सके.

एक मंत्री का कहना था कि बुधवार को राष्ट्रपति असद के साथ खुलकर बात हुई थी.

इससे पहले मिस्र में एक आपात बैठक में अरब विदेशी मंत्रियों ने सीरिया को संगठन से निलंबित न करने का फ़ैसला लिया था.

सीरिया में अब तक हुई हिंसा में क़रीब तीन हज़ार से ज़्यादा लोग मारे जा चुके हैं.

राष्ट्रपति बशर अल-असद के ख़िलाफ़ इन लोगों ने मार्च महीने से ही मोर्चा खोला था.

संबंधित समाचार