ट्यूनीशिया: इस्लामी पार्टी की जीत का विरोध

समर्थक इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption नतीजों की घोषणा के बाद इस्लामी पार्टी इन्नहदा के समर्थक जश्न मनाते हुए.

ट्यूनीशिया के इतिहास में होने वाले पहले स्वतंत्र चुनाव में उदारवादी इस्लामी पार्टी इन्नहदा के सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरने के बाद केंद्रीय शहर सिदी बाओज़िद में प्रदर्शन शुरु हो गए हैं.

प्रदर्शनकारी चुनाव आयोग की ओर से रविवार को हुए चुनावों में हिस्सा लेने वाली एक पार्टी के कई विजयी उम्मीदवारों की दावेदारी रद्द किए जाने का विरोध कर रहे हैं.

इन उम्मीदवारों पर चुनाव प्रचार के दौरान धन संबंधी नियमों के उल्लंघन का आरोप है.

चुनाव के नतीजों की घोषणा के बाद प्रदर्शनकारियों ने उदारवादी इस्लामी पार्टी इन्नहदा के मुख्यालय पर हमला कर दिया.

'बदलाव' का विरोध

इन्नहदा पार्टी को राष्ट्रीय एसेंबली की 217 सीटों में से 90 सीटों पर जीत हासिल हुई है.

बीबीसी संवाददाता कोल आर्नल्ड के मुताबिक ट्यूनीशिया में लंबे समय तक चले आंदोलनों और प्रदर्शनों के बाद राष्ट्रपति ज़ैन अल आबिदिन बिन अली के 20 साल के शासन का अंत हुआ आम चुनाव कराए गए.

हालांकि इन चुनावों में इस्लामी पार्टी की जीत से कुछ लोग नाखुश हैं और उनका मानना है कि इस पार्टी के सत्ता में आने के बाद देश में काफ़ी बदलाव होंगे और उसकी दिशा ही बदल जाएगी.

संबंधित समाचार