बीच बैंकॉक में पानी घुसने का डर

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption उत्तरी बैंकॉक की सड़कों पर कमर तक पानी है, बाक़ी हिस्सों में भी पानी आ रहा है

थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक के निवासी बाढ़ के बढ़ते पानी का सामना करने के लिए तैयार हो रहे हैं. इस सप्ताहांत ऊँची लहरें शहर के मध्य तक पहुँच सकती हैं.

उत्तरी बैंकॉक के बाहरी क्षेत्रों में पहले ही पानी आ चुका है. हज़ारों लोग शहर से भाग चुके हैं.

पानी धीरे-धीरे बैंकॉक में घुस रहा है, हालाँकि शहर का केंद्रीय हिस्सा अभी सूखा है.

शनिवार सुबह ऐसी आशंका थी कि ऊँची लहरें चाओ फ़्राया नदी के तटबंध पर लगे अवरोधों को तोड़कर शहर में चली आएँगी. ये नदी शहर के बीच से गुजरती है.

मगर तटबंध अटूट रहा जिससे लोगों को थोड़ी राहत मिली. मगर अभी आशंका है कि आज एक बार फिर और इसके बाद कल सुबह एक बार फिर ज्वार आएगा जिससे हालात ख़राब हो सकते हैं.

हालाँकि थाईलैंड की प्रधानमंत्री यिंगलुक चिनावाट ने उम्मीद जताई है कि अगले सप्ताह से पानी घटना शुरू हो सकता है.

तैयारी

कोई सवा करोड़ बैंकॉक निवासी बाढ़ से बचने की तैयारी कर सकें, इसके लिए सरकार ने गुरूवार 27 तारीख़ से पाँच दिन की छुट्टी घोषित कर दी है.

लोग छुट्टी का लाभ उठाते हुए शहर से भाग रहे हैं. शनिवार सुबह भी उत्तरी बैंकॉक से हज़ारों लोग बढ़ते पानी से बचने के लिए निकल पड़े, कई सिर पर सामान ढो रहे थे, कई रबड़ की नावों में बैठ बाहर निकल रहे थे.

वैसे ज्वार के बाद जब नदी का पानी समुद्र के जलस्तर से पौने तीन मीटर ऊँचा चला गया तो कई इलाकों में पानी तटबंध के बाहर चला आया और लोगों को पानी को घरों और दूकानों-दफ़्तरों में घुसने से रोकने के लिए कोशिश करनी पड़ी.

इस बीच थाईलैंड की प्रधानमंत्री यिंगलुक चिनावाट ने कहा है कि बैंकॉक से पानी अगले महीने से घटना शुरू होना चाहिए.

उन्होंने लोगों को भरोसा दिया कि उनकी सरकार इस ख़तरे का सामना करने में सक्षम रहेगी.

उन्होंने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से भी थाईलैंड में विश्वास बनाए रखने की अपील करते हुए कहा,"कृपया थाईलैंड में विश्वास रखें, हमारे यहाँ व्यवस्था बहुत अच्छी है, मगर बैंकॉक समुद्र से पहले पड़ता है, और ये सबसे गंभीर और सबसे बुरा समय है, आशा है अगले सप्ताह से सब सामान्य होने लगेगा."

बाढ़

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption बैंकॉक के पास होंडा की कार फ़ैक्ट्री में पानी घुसने के कारण काम बंद करना पड़ा है

थाईलैंड में मौनसून की भारी बारिश के कारण पिछले जुलाई से ही बाढ़ आई हुई है जो पिछले 60 सालों में देश में आई सबसे गंभीर बाढ़ है.

इससे अभी तक 370 लोगों की मौत हो चुकी है.

बाढ़ से थाईलैंड के जनजीवन पर गंभीर असर पड़ा है और कल बैंक ऑफ़ थाईलैंड ने मौजूदा वित्तीय वर्ष के लिए देश की विकास दर के अनुमान को लगभग चार प्रतिशत से घटाकर लगभग ढाई प्रतिशत कर दिया.

बाढ़ से टोयोटा-होंडा जैसी मोटर कंपनियों और लेनोवो-ऐपल जैसी बड़ी कंप्यूटर निर्माता कंपनियों पर भी असर पड़ा है जिनकी थाईलैंड स्थित कंपनियों को काम बंद कर देना पड़ा है.

ऐपल के मुख्य कार्यकारी टिम कुक ने चेतावनी दी है कि बाढ़ से कंप्यूटर उद्योग के लिए हार्ड डिस्क ड्राइवों की कमी हो सकती है.

संबंधित समाचार